दिल्ली पुलिस ने शुरू किया लोगों की जीवन रक्षा का अभियान, बनाया प्लाज्मा बैंक


नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के इस दौर मे दिल्ली पुलिस ने संक्रमित मरीजों की मदद के लिए हर वह संभव प्रयास कर रही है। अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी दूर करने के साथ ही अब पुलिस मरीजों को प्लाज्मा भी मुहैया करा रही है। 24 अप्रैल को दिल्ली पुलिस ने प्लाज्मा दान करने के लिए शुरू की गई जीवन रक्षक अभियान भी सफल हो रहा है। इस अभियान के तहत प्लाज्मा डोनर डाटा बैंक से अब तक नौ लोगों ने प्लाज्मा दान किया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऑक्सीजन के साथ ही मरीजों को प्लाज्मा की भी बेहद जरूरत है।
ऐसे में दिल्ली पुलिस ने अपनी आधिकारिक बेवसाइट पर प्लाज्मा डोनर और प्लाज्मा की जरूरत वाले मरीजों का एक डिजिटल डाटा बैंक तैयार किया है । इससे अब तक 87 लोगों ने प्लाज्मा दान करने के लिए खुद को पंजीकृत किया है। इनमें से 78 लोगों को डॉक्टरों ने किसी न किसी वजह से अयोग्य करार दिया। वहीं प्लाज्मा लेने वाले 572 लोगों ने जीवन रक्षक डाटा बैंक पर खुद को पंजीकृत है। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि प्लाज्मा दान करने के लिए आईएलबीएस ने जो मानक तय किए हुए हैं, उनके अनुसार बस नौ ही लोग प्लाज्मा दान कर सके। 27 अप्रैल को साकेत निवासी 55 वर्षीय एक शख्स को प्लाज्मा दान किया गया। इसी तरह एक महिला एसआई को जीवन रक्षक से प्लाज्मा मिल सकता। इसी तरह बुधवार को सात और लोगों ने प्लाज्मा डोनेट किया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि दान करने वाले लोगों में सात दिल्ली पुलिस के जवान थे, वहीं दो अन्य लोग थे।

बुधवार को जामा मस्जिद थाने में तैनात हवलदार दीपक ने प्लाज्मा दान किया। पुलिस अधिकारी लोगों से इस समय अधिक से अधिक संख्या में प्लाज्मा दान करने की अपील की है । अधिकारी ने कहा कि इस समय एक दूसरे की मदद के लिए आगे आना होगा। डोनर्स अपनी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद आईएलबीएस वसंतकुंज, एक्शन बालाजी, मूलचंद अस्पताल, सरोज अस्पताल और मैक्स साकेत अस्पताल में प्लाज्मा दान कर सकते हैं। ताकि कोरोना संक्रमित मरीजो की हर सम्भव मदद की जा सके ।