कोरोना वॉरियर्स के तौर पर यूपी पुलिस की हालत को आर्टिस्टों ने सैंड आर्ट से किया जाहिर


नेशनल डेस्क। कोरोना वायरस महामारी रोजाना सेगड़ों लोगों की निगल रही हैं। ये बीमारी अमीर, गरीब, जाति, समुदाय, बड़ा -छोड़ा नहीं देख रही बस जैसे ही कोई लापरवाही बरत रहा है उसे पकड़ ले रही हैं। लोग सुरक्षित रहे इस  लिए देश की सेना और पुलिस, डॉक्डर्स के साथ साथ एक योद्धा की तरह हमारी रक्षा के लिए कोरोना से लड़ रहे हैं। बाहर निकले तो मास्क लगा कर निकले। जरूरी काम से ही बाहर निकले, कोरोना काल में सरकार के दिशा निर्देशों का लोग पालन करें, एक साथ ज्यादा लोग जमावड़ा न लगाए , ऐसी तमाम तरह की ड्यूटी वह महामारी के दौरान घर से बाहर निकल कर कर रहे हैं। ऐसे में हम सब को पुलिस का सहयोग करना चाहिए और उनकी बात माननी चाहिए। वह रोजाना अपनी जान पर खेल कर हमारी रक्षा के लिए घर से बाहर निकलते हैं। 
पुलिस को उनके काम के लिए अपना सम्मान व्यक्त करने के लिए कुछ छात्रों ने एक अनोखे अंदाज में यूपी पुलिस का शुक्रिया अदा किया है।  बालू कला के माध्यम से COVID-19 से युद्ध के प्रयासों के लिए कलाकारों ने यूपी पुलिस की प्रशंसा की है। COVID-19 महामारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के ललित कला संकाय के छात्रों ने संगम घाट पर रेत कला का निर्माण किया। कलाकारों ने संक्रामक बीमारी से जूझते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस का एक सैंड स्कल्पचर बनाया है, जिसने फेस मास्क पहना है। आप देख सकते हैं कि मास्क के सहारे यूपी पुलिस लोगों की सुरक्षा करने के लिए घरों से बाहर है। लोगों को महामारी से होने वाले दुष्परिणामों से भी अवगत करवा रही हैं। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों में 15,353 नए COVID मामले दर्ज किए। ऐसे में हालत बहुत ज्यादा खराब है। 
आपको बता दें कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 1,68,912  नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,35,27,717 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार की सुबह आठ बजे के अद्यतन आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। देश में संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर 90 प्रतिशत से भी कम रह गई है। आंकड़ों में बताया गया है कि देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 12 लाख से अधिक हो गई है तथा 904 और लोगों की मौत होने के बाद संक्रमण से अब तक मारे गए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,70,179 हो गई है। संक्रमण के दैनिक मामलों में लगातार 33वें दिन हुई बढ़ोतरी के बीच देश में उपचाराधीन लोगों की संख्या बढ़कर 12,01,009  हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 8.88  प्रतिशत है, जबकि लोगों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 89.86 प्रतिशत रह गई है। देश में सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मरीज 12 फरवरी को थे और सबसे अधिक 10,17,754 उपचाराधीन मरीज 18 सितंबर 2020 को थे, लेकिन अब उनकी संख्या इस आंकड़े से भी आगे निकल गई है। आंकड़ों के अनुसार, इस बीमारी से अब तक 1,21,56,529, लोग उबर चुके हैं जबकि मृत्यु दर 1.26 प्रतिशत है।