रेमडेसिविर की कालाबाजारी में डॉक्टर और लैब असिस्टेंट गिरफ्तार


दिल्ली ब्यूरो। बाहरी जिले की नारकोटिक सेल ने छापेमारी करके एक डॉक्टर और लैब असिस्टेंट को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान रोहिणी सेक्टर 13 के साई अपार्टमेंट के डॉ विष्णु अग्रवाल (32) और राजौरी गार्डन में शिवाजी विहार के लैब असिस्टेंट निखिल गर्ग (22) के तौर पर हुई है। आरोपियों के कब्जे से 8 रेमडेसिविर के इंजेक्शन बरामद किए हैं। आरोपी 35 हजार रुपये में खरीदकर 45 हजार रूपए में कालाबाजारी करते थे।
बाहरी जिले के डीसीपी राजीव रंजन के मुताबिक, सूचना मिली थी कि कुछ लोग रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजरी कर रहे हैं। सूचना के आधार पर जिला पुलिस के नारकोटिक्स सेल और एसटीएफ की एक टीम गठित की गई। टीम ने बरवाला चौक के पास से कार से जा रहे विष्णु अग्रवाल को रोका। उनकी कार की जब तलाशी ली गई तो उसमें 3 इंजेशक्न मिले। उसके बारे में जानकारी मांगी गई तो वह पुख्ता दस्तावेज नहीं दिखा पाए। उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।
उनसे की गई पूछताछ के बाद पुलिस ने लैब सहायक निखिल गर्ग को गिरफ्तार किया गया। उसके पास से पांच रेमडिसिविर इंजेक्शन जब्त किए गए। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि इन्होंने 35 हजार रूपए में रोहिणी के एक नवीन नाम के शख्स से खरीदी थी। फिलहाल पुलिस टीम नवीन की तलाश में जुटी है।