गो तस्करों को संरक्षण देने वाले पुलिसकर्मियों को एसएसपी मुरादाबाद ने किया निलंबित


मुरादाबाद। अवैध वसूली कर गोकशी और नशीले पदार्थों की तस्करी करने वालों को संरक्षण देने के आरोप में एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने मझोला थाने की जयंतीपुर चौकी के प्रभारी और दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया है। तीनों के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू हो गई है। कार्रवाई के दायरे में आए चौकी प्रभारी मनोज कुमार, सिपाही अर्जुन कुमार और सिपाही टीनू पाल के खिलाफ एसएसपी को शिकायत मिली थी। शिकायत में कहा गया था कि गोकशी करने वालों और नशीले पदार्थों की तस्करी करने वालों को पुलिसकर्मी संरक्षण दे रहे हैं। बदले में इन लोगों से मोटी रकम वसूल रहे हैं। एसएसपी ने इसकी जांच एएसपी अनिल कुमार को सौंपी थी।
एएसपी ने जांच में गोकशी के एक आरोपी का चौकी परिसर में चौकी प्रभारी के साथ उठना-बैठना पाया। साथ ही क्षेत्र में स्मैक, चरस आदि का धंधा बढ़ने की जानकारी मिली। चौकी प्रभारी के साथ ही दो सिपाहियों की भूमिका भी गड़बड़ पाई गई। एएसपी की इस रिपोर्ट के बाद एसएसपी ने तीनों को निलंबित कर दिया।
गौरतलब है कि हाल ही में जयंतीपुर चौकी में तैनात एक दारोगा पर छेड़छाड़ पीड़िता से रिश्वत मांगने का आरोप लगा था। उस मामले में एसओ के खिलाफ मुकदमा भी पंजीकृत किया गया था। मुरादाबाद एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि जयंतीपुर पुलिस चौकी के प्रभारी मनोज कुमार और दोनों सिपाहियों के खिलाफ कई शिकायतें मिलीं थीं। इन शिकायतों की जांच कराने पर पाया गया कि गोकशी के आरोपी का चौकी में आना-जाना है। इसके अलावा अन्य गैरकानूनी धंधों पर नियंत्रण न लगा पाने के चलते चौकी प्रभारी और दो सिपाहियों को निलंबित किया गया है।