पुस्तक में मोहम्मद साहब का काल्पनिक चित्र छापे जाने से मुसलमान नाराज


सहारनपुर। दिल्ली के प्रकाशन समूह द्वारा चौथी क्लास में पढ़ी जसने वाली सोशल साइंस की पुस्तक इनक्रेडिबल वर्ल्ड में मुसलमानों के पैगंबर मोहम्मद साहब का चित्र छापे जाने को लेकर विवाद हो गया है। विश्व प्रसिद्ध इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद के मोहतमिम ने कहा है कि दुनिया में कहीं भी मोहम्मद साहब का चित्र नहीं है। इसके बावजूद समाज में बिखराव पैदा करने के लिए यह हरकत की गई है।
सरकार मामले की जांच कर आवश्यक कार्रवाई करें और इस पुस्तक पर प्रतिबंध लगाए। इसी मसले को लेकर सहारनपुर लोकसभा सीट से सांसद हाजी हाजी फजलुर्रहमान ने भी राष्ट्रपति को ज्ञापन भेज पुस्तक पर प्रतिबंध लगाए जाने और आवश्यक कार्रवाई की मांग की है। वहीं विद्या प्रकाशन ने पैगंबर की फोटो छपने पर माफी मांगी है और किताबें वापस मंगाने का आश्वासन दिया है।
दारूल उलूम देवबंद के मोहतमिम ने जताई आपत्ति
सहारनपुर।दिल्ली के प्रकाशक द्वारा कक्षा चार में पढ़ाए जाने वाली सामाजिक विज्ञान की पुस्तक इनक्रेडिबल व‌र्ल्ड में पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब का काल्पनिक चित्र छापे जाने से मुसलमान नाराज हैं। विश्व प्रसिद्ध इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी ने कड़ा एतराज जताते हुए कहा कि कि दुनिया में कहीं भी पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब की तस्वीर नहीं है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को आहत कर समाज मे बिखराव पैदा करना चाहते हैं।
दारूल उलूम के मोहतमिम ने कहा कि किताब के प्रकाशक और लेखक के खिलाफ धार्मिक भावनाएं आहत करने का मुकदमा दर्ज हो औऱ सरकार इस पुस्तक पर प्रतिबंध लगाए। सांसद के नेतृत्व में मुस्लिम समाज के लोगों ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन सहारनपुर। सहारनपुर लोकसभा सीट से बहुजन समाज पार्टी के सांसद हाजी फजलुर्रहमान के नेतृत्व में मुस्लिम समाज के जिम्मेदार लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) एसबी सिंह से मिला उन्होंने कक्षा 4 की समाज शास्त्र की पुस्तक में मोहम्मद साहब का चित्र छापे जाने पर रोष जताया।
एडीएमई के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर मुस्लिम समाज के लोगों ने पुस्तक के प्रकाशक और लेखक के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई किये जाने की मांग उठायी। लोकसभा सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कहा कि पुस्तक पुस्तक पर प्रतिबंध लगाकर इसे बाजार से हटाया जाए।
ज्ञापन देने वालों में सांसद के अलावा नायब शहर काजी नदीम अख्तर, आल इंडिया मिल्ली काउंसिल के जिलाध्यक्ष मौलाना अब्दुल मालिक मुगीसी, जामा मस्जिद के प्रबंधक मौलवी फरीद,बसपा नेता राव बाबर,सैयद हस्सान,अमजद अली खान, वजाहत अली खान, अमर राणा, गय्यूर अली आदि शामिल रहे।