गाजियाबाद के अस्पतालों में मौजूद है रेमडेसिविर इंजेक्शन, फिर भी मरीजों परिजनों से मंगा रहे थे इंजेक्शन


सूर्य प्रकाश,(गाजियाबाद)। कोरोना से बचाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना प्रशासन को लगातार मिल रही थी, जिसे गम्भीरता से लेते हुए एसपी डॉ. ईराज राजा और एसडीएम आदित्य प्रजापति ने गाजियाबाद के दो अस्पतालों पर अचानक छापेमारी की तो यहां स्टॉक में रेमडेसिविर इंजेक्शन पाए गए, जबकि इन अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों से ही इंजेक्शन उपलब्ध कराए जाने की बात कही जा रही थी।
दोनों अस्पतालों की छापेमारी के बाद पुलिस ने दोनों के ही कंप्यूटर अपने कब्जे में ले लिए हैं और जो स्टॉक में इंजेक्शन मौजूद हैं, उसके आधार पर कंप्यूटर से मिलान करते हुए गहनता से जांच की जा रही है।
इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए एसपी डॉ. ईराज राजा ने बताया कि गणेश अस्पताल और नागर अस्पताल में भर्ती लोगों के परिजनों से सूचना मिल रही थी कि उनसे लगातार रेमडेसिविर इंजेक्शन बाहर से मंगाए जाने के लिए कहा जा रहा है, जबकि सभी अस्पतालों को इंजेक्शन की सप्लाई हो रही है।
एसपी ने बताया कि शिकायत के आधार पर उन्होंने देर रात एसडीएम आदित्य प्रजापति के साथ मिलकर इन दोनों अस्पतालों में बुधवार देर रात अचानक छापेमारी की गई तो स्टॉक में यहां इंजेक्शन पाए गए।
उन्होंने बताया कि फिलहाल उनके कंप्यूटर को कब्जे में लेकर इस पूरे मामले की गहनता से जांच शुरू कर दी है कि आखिरकार इन्हें अभी तक कितने इंजेक्शन प्राप्त हुए हैं और कितने मरीजों को इंजेक्शन लगाए गए हैं और किस डॉक्टर के प्रिसक्रिप्शन पर यह इंजेक्शन दिए गए हैं। इस पूरे मामले में अभी गहनता से जांच की जा रही है, जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।