राज्य निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप पंचायत निर्वाचन की तैयारियों में जुटा गाजियाबाद जिला प्रशासन


सूर्य प्रकाश,(गाजियाबाद)। जनपद में राज्य निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप पंचायत सामान्य निर्वाचन को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक ढंग से संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन पूर्ण रूप से कटिबद्ध है। निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान सभी कार्य राज्य निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप निर्धारित मानकों के अनुसार संपन्न कराए जाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय द्वारा आज वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक के साथ चारों ब्लॉकों का सघन दौरा किया गया। जिलाधिकारी द्वारा प्रतिदिन मतदान केंद्र व बूथों के निरीक्षण के साथ प्राप्त शिकायतों की पड़ताल कर उनके निस्तारण के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए जा रहे हैं। इस अवसर पर जिलाधिकारी के द्वारा सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान सभी कार्य आयोग की मंशा के अनुरूप संपन्न कराए जाएं। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि जिले में पंचायत चुनाव को सुचारु, शांतिपूर्ण व निष्पक्ष कराने के लिए जनपद को 21 जोन व 78 सेक्टरों में बांटा गया है जिसमें टोटल बूथ 958 है। निर्वाचन प्रक्रिया को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए कुल 3832 कार्मिकों को लगाया गया है एवं 20% रिजर्व कार्मिक रखे गए हैं। निर्वाचन प्रक्रिया के लिए 311 सेंटर बनाए गए हैं जिसमें 57 सेंटर संवेदनशील ,114 अति संवेदनशील एवं 132 अति संवेदनशील सेंटर हैं। 

उन्होंने निर्वाचन में लगे अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु असामाजिक तत्वों पर प्रभावी कार्रवाई कराई जाए। उन्होंने समस्त उपजिलाधिकारी, संबंधित पुलिस क्षेत्राधिकारी, संबंधित थानाअध्यक्ष एवं तहसीलदार को निर्देशित किया है कि वह अपने अपने क्षेत्रों में नाइट पेट्रोलिंग कर यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी प्रकार का लोभ-लालच, डराना-धमकाना, शराब परोसना जैसी गतिविधियों पर अराजक तत्वों के खिलाफ जेल भेजने की कार्रवाई आज से सुनिश्चित कराएंगे। पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए जिलाधिकारी की ओर से पंचायत चुनाव के संबंध में सभी ब्लाकों में जोनल मजिस्ट्रेट व सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाए गए हैं। यह सभी पंचायत चुनाव में चुनावी प्रक्रिया पर पूरी नजर रखेंगे। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पर नजर रखते हुए चुनाव की पूरी सूचना जिला निर्वाचन अधिकारी को देंगे। गंभीर अनियमितता मिलने पर सीधे चुनाव आयोग को भी रिपोर्ट भेज सकेंगे। निरीक्षण में जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारी व सभी जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट को निर्देशित किया कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर मतदान स्थलों पर भवन की स्थिति, बिजली, फर्नीचर, शौचालयों आदि की व्यवस्था सहित पहुंच मार्ग का निरीक्षण कर सारी व्यवस्थाएं कराना सुनिश्चित कराएं।