मैदानगढ़ी कंस्ट्रक्शन साइट पर सैकड़ों मजदूरों को एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने खिलाया खाना


नई दिल्ली। दिल्ली में लॉकडाउन के तुरंत बाद से दिल्ली के प्रशासनिक अधिकारियो ने लोगों की मदद करना शुरू कर दिया है। दक्षिणी दिल्ली के एक सरकारी कंस्ट्रक्शन साइट पर सैकड़ों की संख्या में मजदूरों को खाने पीने की मदद के लिए महरौली जिले के एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट खाना लेकर पहुंचे और यह आश्वस्त किया कि पूरे लॉकडाउन के दौरान वह अपने क्षेत्र के किसी भी मजदूर को भूखे पेट नहीं सोने देंगे। दिल्ली में एक बार फिर शुरू हो गई दिल्ली सरकार की रसोई. इस बार के लॉकडाउन में सबसे पहले दक्षिणी दिल्ली में मजदूरों के मदद के लिए यह कार्य शुरू किया गया है। तस्वीरे दक्षिणी दिल्ली के मैदान गढ़ी इलाके की है। यहां एक सरकारी बिल्डिंग का कार्य चल रहा है। जहां सैकड़ों मजदूर काम करते हैं। जिला प्रशासन को सूचना मिली कि इन मजदूरों को खाने पीने की दिक्कत हो रही है। जिसके बाद महरौली जिले के एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट सुनील कुमार खुद मौके पर पहुंचे और यहां सभी मजदूरों को खाना खिलाया। 
एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने मजदूरों के दर्द को भी पूछा, कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें किसी तरह की कोई दिक्कत तो नहीं है। दिल्ली सरकार के इस अधिकारी ने यह आश्वस्त किया कि दिल्ली में एक बार फिर लॉकडाउन लग गया है और वह मजदूरों के किसी भी समस्या के लिए हमेशा तत्पर हैं। वह क्षेत्र में किसी भी मजदूर को भूखे पेट नहीं सोने देंगे। इसके लिए उन्होंने रास्ता भी बताया कि कैसे खाने पीने को लेकर परेशान मजदूर दिल्ली सरकार से मदद की गुहार कर सकते हैं। लॉकडाउन की घोषणा के तुरंत बाद से दिल्ली से मजदूरों का पलायन शुरू हो गया। बिना किसी लेट के दिल्ली सरकार की तरफ से इस मदद से यह साफ है कि दिल्ली सरकार दिल्ली में फंसे मजदूरों को हर तरह से मदद करेगी. वह दिल्ली छोड़कर ना जाए इसके लिए उनके खाने-पीने का इंतजाम शुरू हो गया है।