10 दिन से मरे हुए बच्चे को सीने से लगाए घूम रही ये बंदरिया


सतना,(मध्य प्रदेश)। ये बंदरिया अपने मुंह में क्या दबाए घूम रही है? शायद आपको इन तस्वीरों को देखकर समझ नहीं आ रहा होगा। क्या ये कोई खाने का सामान है या फिर कुछ और। बहुत गौर से देखेंगे तो आपको इसमें एक नन्हे बंदर की आकृति नजर आएगी। जी हां, ये एक नन्हा बंदर था, इस बंदरिया का बच्चा। एक हादसे में बच्चे की मौत हो गई, पर मां का दिल ये मानने को राजी ही नहीं।
10 दिन बीत चुके हैं, बच्चे का मृत शरीर सूख चुका है, पर मां उसे सीने से लगाए घूम रही है। जहां भी जाती है, बच्चा उसके साथ होता है। वो एक पल के लिए भी उसे खुद से अलग नहीं करती। मां को अब भी ये लग रहा है कि शायद कूदता-फांदता उसके जिगर का टुकड़ा फिर उठ खड़ा हो जाएगा। बच्चे की मौत का सच उसे अभी स्वीकार नहीं है।
बंदरों के झुंड जहां खाने पीने में मस्त है, वहीं इस मां अपने मर चुके बच्चे को जगाने का जतन करती नजर आती है। एक मां की ममता और बच्चे के प्रति उसके बेइंतहा प्यार को बयां करती ये घटना मध्य प्रदेश के सतना जिले के अमरपाटन की हैं। हर कोई इन्हेंदेखकर भावुक है।