कार में लिफ्ट देकर पेट्रोल पंप के मालिक ने किशोरी से किया रेप, 3 दिन बाद भी पुलिस ने नहीं दर्ज किया केस


कुशीनगर। उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं की सुरक्षा को लेकर तमाम दावे कर ले लेकिन हकीकत कुछ और ही है। आए दिन प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों के खिलाफ अपराध के मामले सामने आते रहते हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले का है। यहां एक किशोरी के साथ बलात्कार का मामला सामने आया है। बलात्कार का आरोप पेट्रोल पंप मालिक पर लगा है। आरोप है कि एक युवक ने किशोरी को लिफ्ट देने के बहाने कार में बैठाकर पहले छेडख़ानी की और बाद मे उसके साथ बलात्कार किया। इतनी बड़ी घटना के तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं किया है।
मामला कुशीनगर जिले के कसया थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। महराजगंज जिले की एक किशोरी कसया में अपने किसी रिश्तेदार के घर आई थी। जहां से अपने घर जाने के लिए वह बस के इंतजार में कुशीनगर तिराहे पर खड़ी थी। तभी एक कार रुकी और उसमें सवार युवक ने कहा कि वह गाड़ी में बैठ जाए। इसके बाद किशोरी कार मे बैठकर चल दी। कार मे बैठे युवक ने अपना परिचय दिया कि उसका नाम आदित्य मणि त्रिपाठी है और कसया में वह एक पेट्रोल पम्प का मालिक है।
आरोप है कि कुछ दूर जाने के बाद युवक किशोरी के साथ छेड़छाड़ करने लगा। विरोध करने पर उसने किशोरी के साथ रेप किया और उसे गोरखपुर में उतारकर फरार हो गया। किशोरी ने किसी तरह घर पहुंचकर सारी आपबीती परिजन को बताई। इसके बाद किशोरी अपने चाची के साथ कसया थाने पहुंची और पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। हालांकि, घटना के 3 बीत जाने के बाद भी पुलिस अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं कर सकी है।
पुलिस पर सवालिया निशान
ऐसी घटनाओं से उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। अपराधी बेखौफ वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। उस पर नाबालिग के साथ बलात्कार जैसी इस वारदात ने एक बार फिर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगा दिया है। वजह है इस केस में बलात्कार का मुकदमा लिखने में कसया पुलिस ने काफी वक्त लगा दिया। मामले की जानकारी के लिए थानेदार से संपर्क किया जा रहा है तो उनका फोन कभी बिजी तो कभी आउट ऑफ नेटवर्क बता रहा है।