छत्तीसगढ़ में हीरा तस्करों के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, 50 लाख के हीरे के साथ दो गिरफ्तार


  • छत्तीसगढ़ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 440 नग हीरे के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार
  • पुलिस को देख स्कूटी से भाग रहे थे, घेराबंदी कर पकड़ा
  • गरियाबंद जिले में है हीरे की खदान, अवैध खनन का हीरा कर रहे थे तस्करी
  • बीते डेढ़ साल में डेढ़ करोड रुपए का 1112 नग हीरा जब्त कर चुकी है गरियाबंद पुलिस
गरियाबंद। हीरे को लेकर छत्तीसगढ़ की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई गरियाबंद जिला पुलिस ने की है। 50 लाख रुपए के 440 नग हीरे तस्करों से पुलिस ने बरामद किए हैं और दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को हुई इस कार्रवाई के दौरान तस्कर स्कूटी में इतनी बड़ी मात्रा में हीरा लेकर छूरा फिंगेश्वर के रास्ते रायपुर जा रहे थे। पुलिस ने रोका तो हड़बड़ा गए और उल्टा भागने लगे। घेराबंदी कर पकड़ने के बाद जब तलाशी ली गई तो पुलिस के भी होश फाख्ता हो गए। एक साथ 440 नग हीरे छत्तीसगढ़ में पहले कभी बरामद नहीं हुए थे।
गरियाबंद जिले के मैनपुर इलाके में पायलीखंड नाम की हीरे की खदान है जहां आए दिन अवैध खनन होता है। खदान की सुरक्षा के लिए पुलिस इस इलाके में अक्सर सर्च अभियान चलाती है, लेकिन अवैध खनन करने वालों को पहले ही उसकी खबर लग जाती है और वे भाग जाते हैं। बाहर से तस्कर छिपकर यहां पहुंचते हैं और अवैध खनन करने वालों से कम कीमत पर हीरा खरीद कर ले जाते हैं।
पुलिस ने दोनों तस्करों के मोबाइल के कॉल डिटेल खंगाल रही है जिससे पुलिस यह पता लग सके कि तस्कर किन से हीरा खरीदते थे और रायपुर में किसको बेचते थे। पुलिस इस काम में बड़े लोगों की संलिप्तता का पता भी लगा रही है। गरियाबंद जिला पुलिस ने पिछले डेढ़ साल में 7 अलग-अलग प्रकरणों में 672 नग हीरा तस्करों से जब्त किया है। इसे मिलाकर अब तक डेढ़ करोड़ मूल्य का 1100 नग हीरा जब्त करना बड़ी उपलब्धि है।