गाजियाबाद में 537 बेड खाली हैं, लेकिन ऑक्सिजन ना होने से किसी काम के नहीं


गाजियाबाद ब्यूरो। गाजियाबाद के कोरोना अस्पतालों में अभी 537 बेड खाली हैं। लेकिन, ये सब बेकार हैं। यहां मरीज भर्ती नहीं किए जा रहे हैं। सभी 50 कोविड अस्पतालों के इन बेडों पर ऑक्सिजन सपोर्ट की व्यवस्था नहीं है। सभी 739 आईसीयू वेंटिलेटर भर चुके हैं। बेड नहीं होने की वजह से मरीज अस्पतालों के बाहर तड़प रहे हैं।
गाजियाबाद में 3262 बेड हैं, जिसमें से 2725 पर मरीज हैं। जो 537 बेड बचे हैं। उसमें किसी पर ऑक्सीजन की सुविधा नहीं है। जिस कारण गंभीर मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। प्रशासन भले ही ऑक्सिजन पूरी होने का दावा करे, लेकिन अस्पतालों के ये 539 बेड ऑक्सिजन न होने की वजह से खाली पड़े हैं। लोगों को सिलिंडर के लिए लंबी लाइनों में लगना पड़ रहा है।
'भर्ती होना है तो ऑक्सिजन सिलेंडर लाओ'
अस्पतालों में ऑक्सिजन की कमी के कारण लोगों को अस्पताल में भर्ती होने के बाद ऑक्सिजन की व्यवस्था करने के लिए कहा जा रहा है। अस्पताल में बेड होने के बाद भी उन्हें सुविधाओं की व्यवस्था खुद करके लेकर आने के लिए कहा गया है।