काला जठेड़ी गैंग के 6 बदमाश गिरफ्तार, 4 निकले नाबालिग


दिल्ली ब्यूरो। बवाना के कटेवाड़ा गांव में कातिलाना हमले के आरोपी छह बदमाशों को पुलिस ने दबोच लिया है। ये सभी कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी गैंग से जुड़े हैं। बदमाशों में चार नाबालिग हैं। इनसे तीन पिस्टल, तीन देशी कट्टे, 33 कारतूस, एक चोरी की बाइक बरामद हुई है। जेल में बंद कुख्यात बदमाश के निर्देश पर गुर्गे हरियाणा में मर्डर करने की साजिश रच रहे थे। बालिग बदमाशों की शिनाख्त झज्जर के असौदा थाना इलाके के मंजीत उर्फ नानू (22) और रोहतक की महम तहसील के मोहित गिल (24) के तौर पर हुई है।
डीसीपी (आउटर नॉर्थ) राजीव रंजन सिंह के मुताबिक, बाइक सवार बदमाशों के फायरिंग की कॉल मिली। पुलिस को अस्पताल में मोहित लांबा भर्ती मिले, जिन्हें कई गोलियां लगी थीं। उन्होंने बताया कि निखिल नाम के लड़के ने उन्हें कटेवाड़ा नहर पर बुलाया था, जहां पांच लड़के थे। उन्होंने फायरिंग कर दी। खेत में छुपकर मोहित ने अपनी जान बचाई। हमलावर बगैर नंबर प्लेट की बाइकों से फरार हो गए।एसआई जयबीर, संदीप कुमार, एचसी वेद प्रकाश, संदीप कुमार, नरेंद्र समेत 13 पुलिसकर्मियों की टीम बनाई गई। कंझावला थाने में आर्म्स एक्ट के तहत पकड़े प्रिंस उर्फ तिल्ली ने खुलासा किया कि कुतुबगढ़ कांड में बदमाश प्रियव्रत के कहने पर उसने एक नाबालिग को बाइक दी थी। प्रिंस को भी इस मामले में अरेस्ट कर लिया गया। छानबीन में पता चला कि पीड़ित मोहित कुतुबगढ़ के अजय राणा का करीबी है, जो जेल में है। राणा की काला जठेड़ी-लॉरेंस बिश्नोई गैंग के शार्प शूटर प्रियव्रत से टोल टैक्स वसूली के बंटवारे को लेकर रंजिश चल रही है।
प्रियव्रत पर 2019 में कातिलाना हमले के केस में अजय और अभिषेक जेल में हैं। प्रियव्रत भी जेल में है। पुलिस ने एक सूचना के आधार पर चार नाबालिग समेत कुल छह बदमाशों को दबोच लिया। मंजीत और चारों नाबालिगों ने कटेवाड़ा में हमले की बात कबूल ली। मोहित गिल ने हथियार सप्लाई किए थे, जो काला जठेड़ी का करीबी है। ये हरियाणा में एक और मर्डर की साजिश रच रहे थे, जिसके निर्देश जेल से प्रियव्रत ने दिए थे। तफ्तीश में सामने आया कि काला जठेड़ी और प्रियव्रत वारदात में नाबालिगों का इस्तेमाल कर रहे हैं।