गोरखपुर में 7 वर्षीय मासूम की हत्या, 2 दिन से पुलिस कर रही थी तलाश


गोरखपुर। यूपी के गोरखपुर में 7 वर्षीय मासूम की गला रेत कर हत्या कर दी गई। 2 दिन से मासूम की पुलिस तलाश कर रही थी। घर से कुछ दूरी पर झाड़ी में मासूम की लाश मिली है। मामले में पुलिस जांच कर रही है।
गोरखपुर के बांसगांव थाना क्षेत्र के विशुनपुरवा गांव में 7 वर्षीय मासूम की गला रेतकर फेंकी गई लाश बरामद होने से गांव में हड़कंप मच गया। जानकारी के मुताबिक, ब्रह्मानंद विश्वकर्मा का इकलौता पुत्र आलोक मंगलवार की शाम घर के बाहर खेल रहा था। पिता के अनुसार, मासूम आलोक अचानक गायब हो गया। घरवालों ने उसकी तलाश की, लेकिन कहीं पता ना चला, थक हार कर थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई ।
सूचना पर पहुंची पुलिस
2 दिन से पुलिस मासूम की तलाश कर रही थी, लेकिन शुक्रवार को घर से कुछ दूरी पर झाड़ियों में 7 वर्षीय मासूम की लाश मिली। मासूम का धारदार हथियार से गला रेता गया था। हत्या की जानकारी मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। मौके पर ग्रामीणों की भीड़ लग गई। तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी मौके पर पहुंच गए।
राहुल के चाचा शिव कुमार का कहना है कि कुछ नहीं पता किसने और हत्या क्यों की। हमारी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। परिवार में कल चाचा के लड़के की शादी है। चुनाव संपन्न होने के बाद घर के सभी लोग शादी की तैयारी में लगे हुए थे। इसी बीच इतनी बड़ी घटना घट गई। शिव कुमार ने रोते हुए कहा हम दो भाइयों के बीच राहुल ही घर का एक मात्र चिराग था। तीन बहनों के इकलौता भाई के ना रहने पर बेटियों का रो-रो कर बुरा हाल है।
कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया
एसपी साउथ अरुण कुमार सिंह का कहना है कि घरवालों ने दो दिन पहले गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाई थी। पुलिस बच्चे की तलाश कर रही थी। इसी दौरान झाड़ी में लाश मिलने की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे तो बच्चे की लाश झाड़ियों के बीच मिली। लाश के पास टूटी हुई कांच की बोतल मिली है, फोरेंसिक टीम जांच कर रही है। घर वालों ने तहरीर सौंपी है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।