एक लाख की मांग, न देने पर 72 घंटे तक हवालात में रखकर थानेदार ने पीटा, पैर के नाखून उखाड़े


  • इंदौर के आजाद नगर टीआई को किया गया लाइन अटैच
  • आरोपी को 72 घंटे तक थाने में रखकर की है मारपीट
  • परिजनों का आरोप, पिटाई के बाद चल नहीं पा रहा है आरोपी
  • इंदौर पुलिस के अधिकारियों ने टीआई को किया लाइन अटैच
इंदौर,(मध्य प्रदेश)। आजाद नगर टीआई पहले से ही कई विवादों में घिरे हैं। अब उनके खिलाफ एक नया मामला सामने आया है। एक आरोपी की पत्नी ने टीआई पर आरोप लगाया है कि पति को हवालात में 72 घंटों तक बंद रखा है और बेरहमी से पिटाई की है। साथ ही पैर के अंगूठे के नाखून भी उखाड़ दिए हैं। आरोपी को छोड़ने के लिए टीआई ने एक लाख रुपये रिश्वत की मांग की थी। रिश्वत न देने पर पति का यातना दिया है। शिकायत के बाद टीआई को लाइन अटैच कर दिया गया है।
दरअसल, आरोपी रामराज्य तीन दिनों से आजाद नगर थाने में यातना झेल रहा था। सोमवार को मौका मिलते ही वह हथकड़ी के साथ वहां से फरार हो गया। पुलिस ने कुछ ही घंटों बाद उसे फिर से पकड़ लिया और थाने में जमकर पिटाई की है। परिजनों का आरोप है कि पैसे नहीं मिलने पर टीआई ने नाखून तक खींच दिए। आरोपी की पत्नी छह महीने के बच्चे और एक तीन साल की बच्ची के साथ थाने के बाहर बैठी है लेकिन उसे मिलने तक नहीं दिया गया।
परिजनों ने कहा कि टीआई ने कहा है कि आरोपी थाने में नहीं है जबकि आरोपी अंदर ही बंद है, जिसका वीडियो भी मौजूद है। बताया जा रहा है कि आरोपी की इतनी पिटाई हुई है कि वो चल भी नहीं पा रहा है। नियम ये है कि आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसी दिन या दूसरे कोर्ट में पेश करना होता है लेकिन पैसे के लालच में टीआई ने 72 घंटे तक बंदकर पिटाई की है।
मामला संज्ञान में आने के बाद टीआई को लाइन अटैच कर दिया गया। वहीं थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाले जा रहे हैं। ये टीआई का पहला मामला नही है । इससे पहले वसूली से परेशान होकर लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा था, जिसमें टीआई से वरिष्ठ अधिकारी सवाल जवाब कर चुके है।