रेमेडेसीवर की कालाबाजारी करने वाले दो आरोपी गिरफ्तार, पांच इंजेक्शन बरामद


दिल्ली ब्यूरो। कोविड के बढ़ते मामलों के बीच रेमेडेसीवर इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेंडर समेत कई मेडिकल इक्यूपमेंट की कालाबाजारी जोर-शोर से हो रही है। कुछ मुनाफाखोर जरूरतमंदों को महंगे रेट पर रेमेडेसीवर इंजेक्शन बेचकर इसकी कालाबाजारी कर रहे हैं। वेस्ट दिल्ली की स्पेशल स्टाफ टीम ने इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही उनके पास से 5 इंजेक्शन भी बरामद किए गए हैं। खुफिया सूचना के आधार पर वेस्ट डिस्ट्रिक्ट स्पेशल स्टाफ की टीम ने पंजाबी बाग फ्लाईओवर के पास से हर्ष विहार निवासी यशवंत को गिरफ्तार किया। 
जिसने पूछताछ में बताया कि वो महाराजा अग्रसेन हॉस्पिटल में स्टाफ नर्स है। वह अपने एक अन्य साथी दीपक के साथ मिलकर हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती मरीजों के मरने के बाद उनके नाम पर इंजेक्शन लेकर उस इंजेक्शन को जरूरतमंदों को 30 से 40 हजार में बेचते थे। पुलिस दोनों के कब्जे से 5 रेमेडेसीवर इंजेक्शन बरामद किए हैं। स्पेशल स्टाफ की टीम इस कालाबाजारी में हॉस्पिटल के अन्य स्टाफ या डॉक्टर के शामिल होने के बारे पता लगा रही है। फिलहाल इस मामले में पंजाबी बाग थाने में दोनों के खिलाफ आईपीसी 188 और इशेंशियल कमोडिटी ऐक्ट 3/7 के तहत मामला दर्ज किया गया है।