बलरामपुर की राप्ती नदी में फेंका कोरोना मरीज का शव, वीडियो वायरल


  • बलरामपुर के सिसई घाट से कोरोना मरीज का शव फेंकते हुए नजर आए कुछ
  • सड़क से गुजर रहे कुछ लोगों ने बनाया वीडियो, सोशल मीडिया में हुआ वायरल
  • 25 मई को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था मरीज, 28 को हुई थी मौत
बलरामपुर। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर का एक दिल दहला देने वाला वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दो लोग एक कोरोना मरीज का शव नदी में फेंकते नजर आ रहे हैं। वीडियो में जो दो लोग शव को नदी में फेंक रहे हैं उनमें से एक ने पीपीई किट पहनी है जबकि दूसरा काले रंग के कपडे़ पहने है। वीडियो वायरस होने के बाद प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। मामले की जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है।
मामला बलरामपुर के सिसई घाट के पास पुल का है। यहां पर 29 मई को कुछ लोग पुल से गुजर रहे थे। वह बारिश का वीडियो बनाते हुए रोड से गुजर रहे थे। उसी दौरान उनकी नजर पुल के ऊपर पीपीई किट पहने एक शख्स पर पड़ी। युवकों ने अपनी कार रोकी और उसका वीडियो बनाने लगे। वीडियो में दिख रहा है कि दो लोग एक शव को उठाते हैं और उसे नदी में फेंक देते हैं। एक शख्स पीपीई किट पहने है। वीडियो वायरल होने के बाद मामले की जांच कराई गई।
सीएमओर डॉ. वीबी सिंह ने बताया कि जांच के बाद पता चला कि जिनका शव राप्ती नदी में फेंका गया था वह प्रेमनाथ मिश्रा नाम के मरीज का था। उन्हें 25 मई को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह कोरोना पॉजिटिव थे। इलाज के दौरान 28 मई को प्रेमनाथ की मौत हो गई। डॉ. वीबी सिंह ने बताया कि कोविड प्रोटोकाल के तहत प्रेमनाथ का शव अंत्येष्टि स्थल ले जाया गया। वहां उनके परिजनों को शव सौंप दिया गया और टीम वापस आ गई। बाद में प्रेमनाथ के परिजनों ने उनका दाह संस्कार करने की बजाए शव नदी में फेंक दिया। मामले में आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है।
वीडियो में एक शख्स पीपीई किट पहने था इसलिए उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी। दूसरे युवक ने चेहरे में मास्क तक नहीं लगाया था। उसकी पहचान घाट में काम करने वाले उक युवक के तौर पर हुई। उसी के जरिए जांच करते हुए टीम प्रेमनाथ के परिजनों तक पहुंची।