पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते युवक ने की आत्महत्या, मौत से पहले बनाया वीडियो


अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले की पुलिस पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए एक युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। इससे पहले रेल की पटरी के पास उसने एक वीडियो बनाया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। युवक की पहचान नगर कोतवाली क्षेत्र के बछड़ा सुलतानपुर का रहने वाले अमित मौर्या के रूप में हुई है। युवक ने नगर कोतवाल, चौकी प्रभारी और एक सिपाही को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है।
इस मामले में एसएसपी शैलेश पाण्डेय का कहना है कि अमित मौर्या नाम के युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या की है। इसमें उसने अपने चाचा के साथ तीन पुलिस कर्मचारियों पर आरोप लगाए हैं। मामले में जमीनी विवाद था। नगर मजिस्ट्रेट के यहां से स्टे भी था। प्रकरण की जांच एसपी ग्रामीण से कराई जा रही है।
वहीं आत्महत्या करने वाले युवक ने वीडियो में आरोप लगाया है कि उसका संपत्ति को लेकर पड़ोसी रिश्तेदार राम उजागर मौर्य और अन्य लोगों से विवाद चल रहा था। वीडियो में मृतक कह रहा था कि वह देश की कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार से तंग आ चुका है। उसने न्यायालय की व्यवस्था पर भी सवाल खड़े किए हैं। उसका कहना था कि ईमानदार व्यक्ति के लिए कहीं कोई न्याय नहीं है। इसकी वजह से वह आत्महत्या कर रहा है।
बेनीगंज स्थित रेल की पटरी पर मिला शव
मृतक अमित ने अपनी मौत का जिम्मेदार नगर कोतवाल, देवकाली चौकी इंचार्ज और हेमंत सिपाही, उसके पड़ोसी राम उजागिर मौर्य, रामू, उसके दो चाचा को जिम्मेदार ठहराया है। मृतक ने आरोप लगाया है कि उसके परिवार के साथ बेईमानी की गई है। इसकी वजह से परेशान होकर वह आत्महत्या कर रहा है। गुरुवार की सुबह उसका शव बेनीगंज स्थित रेल की पटरी पर मिला।
मृतक के बड़े भाई दीपक मौर्या का कहना है कि उसके निर्माण को पुलिस रोक रही थी। जबकि स्टे निर्माण को लेकर नहीं बल्कि रास्ते को लेकर था। इसमें नगर कोतवाल को जांच सौंपी गई थी लेकिन उन्होंने कागज देखना ही उचित नहीं समझा।
एसपी ग्रामीण करेंगे मामले की जांच
आत्महत्या करने वाले युवक का वीडियो कुछ ही देर में वायरल हो गया। इसको लेकर सोशल मीडिया में काफी कमेंट आने लगे। बीजेपी महानगर अध्यक्ष ने मामले को लेकर तीन सदस्यीय कमेटी बनाई है। जो घटना स्थल पर जाकर जांच करेगी। वहीं प्रकरण में एसएसपी ने जांच एसपी ग्रामीण को सौंपी है।