शराब की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम पर हमला, पिस्टल छीनने का किया प्रयास


अलीगढ़,(उत्तर प्रदेश)। अलीगढ़ जिले के थाना अकराबाद इलाके के गांव अधौन में अवैध शराब की सूचना पर इलाका पुलिस शराब माफिया के यहा छापा मारने के लिए गई तो ग्रामीणों ने चारों तरफ से घेरकर एक साथ हमला कर दिया। आरोपियों ने पनेठी चौकी पर तैनात दो सिपाहियों सहित एक सब इंस्पेक्टर के साथ मारपीट करते हुए दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। सब इंस्पेक्टर की सरकारी पिस्टल भी छीनने की कोशिश की गई। घटना के बाद घायल हुए तीनों पुलिसकर्मियों को उपचार के लिए हायर सेंटर जिला मलखान सिंह अस्पताल भेज दिया गया। वहीं, घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए।
अकराबाद थाने की पुलिस टीम अधौन गांव के छोटे खान के घर पहुंची तो बखेड़ा खड़ा हो गया। छोटे खान के परिजनों ने बताया कि गांव में प्रधानी चुनाव से ही राजनीति चल रही है। आरोप है कि प्रधानी का चुनाव हारे राजन खान पुलिस की मदद से मुकदमे में फंसाना चाहता है और इसी साजिश के तहत छोटे खान को पुलिस थाने ले जाने लगी। जब छोटे खान के परिजनों ने थाने ले जाने का कारण पूछा तो पुलिस ने अभद्रता कर मारपीट कर दी। इससे गांव के लोग आक्रोशित हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया गया।
परिजन का आरोप पुलिस फंसाना चाहती है
परिजनों का आरोप है कि पुलिस शराब तस्करी में फंसाना चाहती है। गांव वालों के विरोध के चलते मौके पर कई थानों की फोर्स पहुंच गई। इस दौरान पुलिस को गांव वालों के विरोध का सामना भी करना पड़ा। बताया जा रहा है कि जिस गाड़ी में छोटे खान और उसके बेटे को पकड़ कर ले जाया जा रहा था। उसमें पहले से शराब की पेटी रखी हुई थी और पुलिस के लोग जबरन दोनों को बैठा कर थाने ले जा रहे थे। जब छोटे खान ने इसका विरोध किया तो पुलिस ने मारपीट कर दी और जेल भेजने की धमकी दी। इससे लोग आक्रोशित हो गए और पुलिस टीम को चारों तरफ से घेर लिया। पुलिस को भारी विरोध का सामना करना पड़ा।
बताया जा रहा है कि पनेठी चौकी पर तैनात पुलिस टीम में रोहित कुमार, राहुल कुमार और दारोगा सिद्धार्थ शामिल थे। विरोध के चलते इन तीनों को खेत से होकर भागना पड़ा। बाद में क्षेत्राधिकारी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंची गई।
आरोपियों को ग्रामीण छुड़ा ले गए
वहीं, इस मामले में क्षेत्राधिकारी बरला सुमन कनौजिया ने बताया कि आस मोहम्मद और छोटे खान द्वारा शराब बेचने की सूचना मिली थी। जिस पर पुलिस मौके पर गांव में पहुंचकर दोनों को पकड़ लिया था। इस दौरान गांव वालों ने पथराव कर दिया। उन्होंने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। वहीं, आरोपियों को ग्रामीण छुड़ा ले गए हैं और इस घटना में मुकदमा लिख कर कार्रवाई की जा रही है।