लूट के मामले में दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल गिरफ्तार, वसूली में भी जा चुका है जेल


  • फाइव स्टार होटल के मैनेजर से पैसे छीनने का था आरोप
  • आरोपी हेड कॉन्स्टेबल वलीम को न्यायिक हिरासत में भेजा गया
  • चाणक्यपुरी पुलिस ने 2011 में जबरन वसूली में अरेस्ट किया था
  • वलीम उस समय ईस्ट जिला के न्यू अशोक नगर थाने में तैनात था
उत्तर पूर्वी दिल्ली। सीलमपुर थाना इलाके में 26 अप्रैल को लूट के मामले में अरेस्ट पुलिसकर्मी मोहम्मद वलीम जावेद पहले भी जबरन वसूली के केस में जेल जा चुका है। वह चाणक्यपुरी के नीति मार्ग स्थित एक फाइव स्टार होटल के मैनेजर के पर्स से जबरन पैसे निकालकर ले उड़ा था। सीलमपुर लूट मामले में दो दिन के रिमांड के बाद आरोपी हेड कॉन्स्टेबल वलीम को अदालत ने न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। वलीम का भाई नईम भी दिल्ली पुलिस में है, जो फरवरी 2018 में खजूरी खास की एक शादी में हुई फायरिंग में जेल जा चुका है।
नॉर्थ-ईस्ट जिले के डिस्ट्रिक्ट लाइन में तैनात रहे वलीम को 26 अप्रैल को सीलमपुर फ्लाइओवर पर एक बाइक सवार को बावर्दी लूटने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। आरोपी ने सात हजार कैश लूटा और पीड़ित के क्रेडिट कार्ड से करीब 53500 रुपये की ट्रांजैक्शन भी कर ली। पुलिस ट्रांजैक्शन और सीसीटीवी फुटेज के जरिए वलीम तक उसी दिन पहुंच गई। वलीम 2006 में पुलिस में भर्ती हुआ था।
चाणक्यपुरी थाना पुलिस ने सितंबर 2011 में उसे जबरन वसूली में गिरफ्तार किया था। वलीम उस समय ईस्ट जिला के न्यू अशोक नगर थाने में तैनात था। पुलिस का आरोप था कि वह रोज चाणक्यपुरी के नीति मार्ग स्थित नेहरू पार्क में आने वाले कपल से वर्दी का रौब जमाकर पैसा वसूलने जाता था। एक फाइव स्टार के मैनेजर ने आरोप लगाया था कि 6 सितंबर 2011 को वह नेहरू पार्क की पार्किंग में एक दोस्त का इंतजार कर रहे थे। एक पुलिसकर्मी आकर उनसे पूछताछ करने लगा तो उन्होंने आई-कार्ड दिखाने के लिए पर्स बाहर निकाला। आरोप था कि पुलिसकर्मी ने पर्स छीन लिया और झूठे केस में फंसाने की धमकी दी। सिपाही ने पर्स से 2000 रुपये निकाले और फरार हो गया। पुलिस की एक टीम नेहरू पार्क गई, जहां से उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा था। सीलमपुर पुलिस की रिमांड में वलीम ने बताया कि वह इस केस में बरी हो चुका है।
फायरिंग में फंसा था पुलिसवाला भाई
खजूरी खास थाना इलाके के शेरपुर चौक स्थित बीआर वाटिका में 24 फरवरी 2018 को एक शादी समारोह में ताबड़तोड़ फायरिंग हुई थी। आरोप लगा था कि स्पेशल सेल के सिपाही नईम ने सेल के ही एएसआई इंतखाब आलम की सर्विस रिवॉल्वर से यह फायरिंग की थी। इसमें एक महिला समेत दो लोग जख्मी हो गए थे। नईम गिरफ्तार हुआ था। वह सीलमपुर लूट केस में गिरफ्तार वलीम का सगा भाई है।