कानपुर पुलिस की शानदार पहल, ऑक्सीजन सिलिंडर बैंक की रखी नींव


अनूप मिश्रा,(कानपुर ब्यूरो)। कानपुर के संक्रमण ने शहर वासियों को ऐसे जख्म दिए है, जिन्हे भरने में लंबा वक्त लगेगा। संक्रमितों के परिवारों ने अपनों की उखड़ती सांसों को देखा है। आंखो में बेबसी के आंसू के सिवा उनके हाथ कुछ नहीं लगा है। अपनों की सांसों को जोड़ने के लिए दिन-रात ऑक्सिजन सिलिंडर लेकर दर-दर भटकते हुए देखे गए है। इस भयवाह स्थिति के बीच कानपुर कमिश्नरेट पुलिस ने एक शानदार पहल की शुरूआत की है। पुलिस कमिश्नर असीम अरूण ने पुलिस लाइन में ऑक्सिजन सिलिंडर बैंक की स्थापना की है।
ऑक्सिजन सिलिंडर बैंक का मकसद है ‘चलो एक जान बचाएं’, सिलिंडर दान करें या कुछ समय के लिए दें। मानवीय संवेदनाओं को ध्यान में रखते हुए जरूरतमंदों को इस बैंक से निशुल्क ऑक्सिजन सिलिंडर दिया जाएगा। कानपुर में ऐसे हालात है कि जरूरतमंदों को खाली ऑक्सिजन सिलिंडर नहीं मिल रहे है। गंभीर रूप से बीमार मरीजों को समय से ऑक्सिजन नहीं मिल पाने की वजह से अपनी जान भी गवांनी पड़ रही है।
पुलिस की इस पहल की जमकर हो रही तारीफ
कानपुर कमिश्नरेट पुलिस ने फेसबुक पेज पर पोस्ट कर शहर वासियों से अपील की है कि क्या आप के पास ऑक्सिजन सिलिंडर है। जिसकी अब आवश्कता नहीं है। सिलिंडर दान करें या कुछ समय के लिए दें। कमिश्नरेट पुलिस की इस पहल की चारो तरफ जमकर तारीफ हो रही है। शहर के कई लोग ऑक्सिजन सिलिंडर देने के तैयार है।
कानपुर कमिश्नर असीम अरूण ने की अपील
पुलिस कमिश्नर असीम अरूण ने कहा कि कानपुर नगर में हमारे पास ऐसे बहुस सारे सुझाव आ रहे थे। कई लोगों ने अपने सिलिंडर पुलिस को दिए, जिसको जरूरत हो उसको आप देदें। इस पहल को व्यवस्थित करते हुए एक ऑक्सिजन सिलिंडर बैंक की स्थापना की गई है। शहर के सभी नागरिकों से अपील है कि आप के पास ऐसा कोई ऑक्सिजन सिलिंडर है, जिसका आप उपयोग नहीं कर रहें है।
पूरी तरह से निशुल्क है व्यवस्था
आप के मरीज को अब जरूरत नहीं है, या फिर आर बैल्डिंग का काम करते है। ऐसे ऑक्सिजन सिलिंडर को दान दे सकते है। इसको आप उधार भी दे सकते है। जिनको जरूरत है उन लोगों को उपलब्ध कराया जाएगा। आवश्कता पूरी होने के बाद आप को वापस लौटा दिया जाएगा। यह पूरी तरह से निशुल्क व्यवस्था है, इस कार्य में किसी से कोई पैसा नहीं लिया जा रहा है।