सोशल मीडिया पर मदद के मेसेज डालकर ठगी करता था बीटेक का छात्र


  • नोएडा के एक इंस्टिट्यूट से कर रहा है बीटेक की पढ़ाई
  • इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप के जरिए फैलाया था अपना फोन नंबर
  • ऑक्सिजन सिलिंडर के लिए पूछताछ करने वाले होते थे निशाने पर
दिल्ली ब्यूरो। नॉर्थ जिले की साइबर सेल ने ऐसे ठग को अरेस्ट किया है, जो सोशल मीडिया पर मदद के लिए पोस्ट डालता था। फिर छोटी रकम ठगता था। आरोपी का मानना था कि छोटी रकम होने से लोग पुलिस के पास शिकायत लेकर नहीं जाते हैं। डीसीपी नॉर्थ, अंटो अल्फोंस ने बताया कि आरोपी- नोएडा निवासी आर्यन है, जो बीटेक का छात्र है। उसने 47 लोगों को कोरोना में मदद दिलाने के नाम पर ठगा था। आरोपी इंस्टाग्राम पर मदद के लिए पोस्ट डालता था, जिस पर लोग उसे फोन करते थे।
पुलिस के मुताबिक, साइबर सेल को इस तरह के फ्रॉड पर नजर रखने के लिए कहा गया था, जिसमें कोविड के समय मदद के नाम पर ठगी हो रही थी। इंस्पेक्टर सुनील की देखरेख में एसआई रोहित की टीम जांच कर रही थी। पुलिस को टेक्निकल सर्विलांस के जरिए आरोपी की लोकेशन जम्मू में मिली। पुलिस ने छापेमारी करके आरोपी को पठानकोट से पकड़ लिया। वह पेटीएम अकाउंट भी बरामद कर लिया, जिसमें ठगी की रकम रखी थी।
पता चला कि आरोपी आर्यन नोएडा के एक इंस्टिट्यूट से बीटेक कर रहा था और बेधड़क अंग्रेजी बोलता था। उसने इंस्टाग्राम पर एक स्टोरी डाली थी, जिसके बाद लोग ऑक्सिजन सिलिंडर को लेकर पूछताछ करने लगे। वहीं से आरोपी को ठगी का इरादा आया। उसने कई वॉट्सऐप ग्रुप की मदद से अपना नंबर फैला दिया और उसे फोन करने वाले लोगों को वह ठगने लगा। आरोपी ने बताया कि ठगे हुए पैसों को वह जम्मू, गुरुग्राम, नोएडा और दिल्ली के होटलों में खर्च करता था।