मंदिर में पूजा के बहाने बेटे को लाया पिता, चाकू से गर्दन रेत कर फिर खुद का गला काटा


फिरोजाबाद,(उत्तर प्रदेश)। फिरोजाबाद जिले के सिरसागंज थाना क्षेत्र में एक पिता बेटे को मंदिर में पूजा करने के बहाने अपने साथ लेकर आया। यहां पर पिता ने अपने ही कलेजे के टुकड़े की गर्दन पर चाकू से वार कर दिया। उसके बाद स्वयं भी आत्महत्या करने के उद्देश्य से गर्दन काट ली। मंदिर में पूजा करने गईं महिलाओं ने ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी।
मंदिर में फैला था खून
थाना सिरसागंज क्षेत्र के गांव किसरांव निवासी संदीप सोमवार को प्राथमिक विद्यालय परिसर में बने शिव मंदिर में अपने पांच वर्षीय बेटे छोटू को पूजा करने के बहाने ले गया था। जहां उसने घर से साथ लेकर गए चाकू से बेटे की गर्दन पर हमला कर दिया। बेटे के लहूलुहान होते ही उसने भी अपनी गर्दन गर्दन काटने काट ली। पिता और पुत्र लहूलुहान हालत में मंदिर में पड़े थे।
महिलाएं पूजा करने गईं तब हुई जानकारी
सोमवार होने के कारण मंदिर में गांव की महिलाएं जल चढ़ाने गई थीं। मंदिर परिसर में पिता-पुत्र को खून से लथपथ देख उनकी चीख निकल गई। महिलाओं ने ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी। ग्रामीणों ने पुलिस को बताया। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल पिता-पुत्र को अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां बेटे की हालत गंभीर बनी हुई है।
वहीं, एसपी ग्रामीण अखिलेश नारायण और थानाध्यक्ष गिरीश गौतम मौके पर पहुंचे। थानाध्यक्ष ने बताया कि घर के बंटवारे के विवाद में युवक द्वारा यह आत्मघाती कदम उठाने की बात सामने आई है। बाकी अभी और पूछताछ की जा रही है। फिलहाल पिता-पुत्र दोनों का इलाज चल रहा है।