दिल्ली सरकार पत्रकारों को अग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धा घोषित करे : इंडियन मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन


दिल्ली ब्यूरो। पूरे देश में कई मीडिया संस्थानों एवं संगठनों ने सरकार से आह्वान कर कहा कि वो पत्रकारों को कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ रहे अग्रिम पंक्ति के कर्मियों के तौर पर देखे। इस संबंध में इंडियन मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा एक वेबीनार का आयोजन किया गया। जिसमें कई वरिष्ठ पत्रकारों एवं समाजसेवियों ने हिस्सा लिया एवं अपने अपने-विचार साझा किए। इंडियन मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव निशाना ने कहा कि अन्य राज्यों की तरह दिल्ली में भी पत्रकारों को दिल्ली सरकार द्वारा कोरोना योद्धा घोषित करना चाहिए एवं पत्रकारों के हित के लिए सरकार को कदम उठाने चाहिए। जैसा कि मध्य प्रदेश, राजस्थान एवं बिहार सहित कई राज्य सरकारों ने पत्रकारों को कोरोना योद्धा घोषित किया है एवं उनके लिए कई योजनाएं शुरू की गई हैं। पत्रकारों को प्राथमिकता के आधार पर कोविड रोधी टीका लगाए जाने की मांग भी की गई, जिससे पत्रकार अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए सुरक्षित रहें। 
 कुछ पत्रकारों ने सरकार से अपील की कि सरकार इस मुश्किल वक्त में पत्रकारों की सहायता के लिये आगे आए क्योंकि वे चिकित्सकों और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों की तरफ इस संकट से लड़ रहे हैं। इंडियन मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन की मांग है कि दिल्ली में भी पत्रकारों को कोरोना योद्धा घोषित किया जाना चाहिए। जिससे कोरोना महामारी के समय में अपने कर्तव्यों का निर्वाह कर रहे पत्रकारों एवं उनके परिवारों को सरकार की तरफ से उचित सहायता एवं सहयोग प्राप्त हो सके। इस संबंध में अध्यक्ष राजीव निशाना ने कहा कि वह जल्द ही वह दिल्ली सरकार केंद्र सरकार एवं माननीय राष्ट्रपति महोदय को पत्र द्वारा इस संबंध में अवगत करवाएंगे। वेबीनार में भारत में कोरोना की स्थिति पर भी गंभीर चिंता व्यक्त की जहां महामारी की पहली और दूसरी लहर के दौरान कई पत्रकारों की जान गई। सूत्रों के अनुसार भारत में कोरोना से लगभग 153 पत्रकारों की मौत हो चुकी है।