अयोध्या में जेसीबी से दफनाई जा रहीं गायें! सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल, मचा हड़कम्प


  • समाजसेवी रितेश दास ने बताया कि गौशाला में मौजूद गायों की स्थिति काफी खराब
  • आठ से दस गायों की मौत का आरोप, गायों को जेसीबी से दफनाने का आरोप
  • मामले में क्षेत्राधिकारी अयोध्या से शिकायत की गयी है
  • थाना पूराकलन्दर की पुलिस जांच भी कर रही है
अयोध्या। अयोध्या में नगर निगम अयोध्या की कान्हा गौशाला में काफी खराब स्थिति में गोवंश है। इन तस्वीरों को मोबाइल में कैद करने वाले समाजसेवी रितेशदास ने अपने ऊपर हमले के प्रयास का आरोप भी लगाया है। मामले में क्षेत्राधिकारी अयोध्या से शिकायत की गयी है। जिसमें थाना पूराकलन्दर की पुलिस जांच भी कर रही है।
जेसीबी के जरिये गायों को दफनाने का आरोप
महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कहना कि बैसिंह कान्हा गौशाला के प्रभारी के खिलाफ पहले भी मंत्री से शिकायत की गयी है। इससे पहले वह सस्पेंड भी हो चुका है। लेकिन उसे दुबारा पद दे दिया गया। जल्दी इसको लेकर नगर विकास मंत्री से मुलाकात की जायेगी। वही समाजसेवी रितेश दास ने बताया कि वह मंगलवार को गाय को तरबूज खिलाने गये थे। उन्हें गौशाला में मौजूद गाय काफी खराब स्थिति में मिली। इसके साथ में आठ से दस गायों की मौत हो गयी थी। जिन्हें जेसीबी से दफनाया जा रहा था। जब वह इसकी वीडियों बनाने लगे तो वहां के कर्मचारियों ने इन्हें रोका।
पहले भी मिल चुकी हैं भ्रष्टाचार की शिकायतें
रितेश दास ने बताया कि इसके बाद वह वहां से भागे तो चार से पांच मोटरसाईकिल वालों ने इनका पीछा किया। रास्तें में स्थित मुर्गी पालन केन्द्र में छिपकर उन्होने जान बचाई। जिसमें शिकायत के बाद मौके पर पुलिस पहुंची और उन्हे लेकर दर्शननगर चौकी आयी। मामले में सीओ अयोध्या के शिकायती पत्र दिया गया है। नगर आयुक्त विशाल सिंह ने बताया कि बैसिंह गौशाला में निराश्रित पशुओं को रखा गया है। जनप्रतिनिधियों को दान के लिए अवगत कराया गया है। गौशाला संचालन के लिए नगर निगम के उपर अतिरिक्त बोझ है। इसको करने के लिए हमारे पास दक्ष कर्मचारी भी नहीं है। फिर भी इसके लिए नगर निगम के द्वारा व्यवस्था की जा रही है। पहले यहां भ्रष्टाचार की शिकायतें मिली थी। जिसपर मेरे आने के बाद लगाम लगायी गयी।