बच्चों को भूखा नहीं देख पाई महिला तो नदी में लगा दी छलांग


शाहजहांपुर। पति ने छोड़ दिया तो आर्थिक तंगी और बच्चों को भूख से तड़पता देख महिला बर्दाश्त नहीं कर पाई, जिसके चलते महिला ने गर्रा नदी में छलांग लगा दी। वक़्त रहते स्थानीय लोगों ने महिला को नदी से निकलकर उसकी जान बचा ली। महिला एक महीने पहले भी इसी जगह से नदी में कूदकर आत्महत्या का प्रयास कर चुकी है।
घटना शाहजहांपुर के चौक कोतवाली के राजघाट छेत्र की है। यहां एक महिला बदहवास हालत में गर्रा नदी पर बने पुल पर पहुंची। इससे पहले कि लोग कुछ समझ पाते महिला ने पुल के ऊपर से नदी में छलांग लगा दी। महिला के छलांग लगाते ही मौके पर भीड़ लग गई। इसी दौरान नदी के किनारे बैठे स्थानीय लोगों ने नदी में कूदकर महिला को किसी तरह से बाहर निकाला।
पूछताछ में महिला ने अपना नाम ममता राठौर बताया, जोकि थाना सदर बाजार के जलाल नगर की रहने वाली है। पूछताछ में पता चला कि महिला के पति ने उसे 4 साल पहले घर से निकाल दिया था। जिसके बाद वह अपने चार बच्चों के साथ अलग रह रही थी। आर्थिक तंगी के चलते महिला बेहद परेशान थी। जब बच्चों की भूख और परेशानी महिला से नहीं देखी गई तो उसने आत्महत्या करने के लिए नदी से छलांग लगा दी। फिलहाल पुलिस ने पिता चेनु लाल को बुलाकर महिला को उनके साथ घर वापस भेज दिया है। 1 महीने पहले भी महिला इस जगह से नदी में कूदकर आत्महत्या का प्रयास कर चुकी है।