ऑक्सिजन फ्लोमीटर की कालाबाजारी कर रहा था आर्किटेक्चर छात्र


दिल्ली ब्यूरो। नॉर्थ जिला पुलिस ने आर्किटेक्चर छात्र सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, जो ऑक्सिजन फ्लोमीटर की कालाबाज़ारी में शामिल थे। आरोपियों की पहचान रोशनआरा रोड निवासी अरुण गुप्ता (25), बुराड़ी निवासी करणजीत सिंह (20) और भानू उर्फ साहिल (21) के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपियों के पास से कुल 36 ऑक्सिजन फ्लोमीटर, आरोपियों के मोबाइल और वारदात में इस्तेमाल एक बाइक व स्कूटी बरामद की है। आरोपी अरुण गुरुग्राम के एक नामी संस्था से आर्किटेक्चर का छात्र है।
डीसीपी नॉर्थ एंटो अल्फोंस ने बताया कि स्पेशल स्टाफ को आरोपियों के बारे में सूचना मिली थी कि बुराड़ी इलाके में एक शख्स पांच हजार रुपये का ऑक्सिजन फ्लोमीटर बेच रहा है। सूचना के बाद पुलिस ने आरोपी की जानकारी जुटाई और नकली ग्राहक बनकर डील की। आरोपी मीटर देने को राजी हो गया, जिसके बाद पुलिस ने उसे बुराड़ी ट्रांसपोर्ट ऑफिस के पास से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की तलाशी लेने पर दोनों के पास से कुल 32 मीटर बरामद किए गए। आरोपियों ने बताया कि ऑक्सिजन फ्लोमीटर की मांग बढ़ने पर वह मेरठ निवासी शफीक से इनको खरीदकर लाए थे। इसके बाद इनको पांच हजार रुपये के हिसाब से बेचा जा रहा था।
इसके बाद पुलिस ने इनके तीसरे साथी अरुण गुप्ता को शास्त्री पार्क मेट्रो स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से चार मीटर और बरामद हुए। आरोपी ने बताया कि वह सोशल मीडिया के जरिए करणजीत के संपर्क में आया था और रुपये कमाने के चक्कर में वह इस गोरखधंधे में शामिल हो गया। करणजीत एक मेडिकल स्टोर पर करता है।