गाजियाबाद के लोनी में इस्तेमाल हैंड ग्लव्स को धोकर बेचने वाले तीन गिरफ्तार


गाजियाबाद ब्यूरो। गाजियाबाद के लोनी के ट्रॉनिका सिटी स्थित इस्तेमाल हैंड ग्लव्स को रिसाइकल कर बेचने वाली फैक्टरी पर बुधवार सुबह पुलिस ने छापा मारा है। पुलिस ने फैक्टरी से संचालक समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। फैक्टरी से करीब 15 लाख की कीमत के दो ट्रक हैंड ग्लव्स, चार मशीनें बरामद हुए है। आरोपी दिल्ली के अस्पतालों से इस्तेमाल हैंड ग्लव्स लाकर लोनी रिसाइकल करते थे। पुलिस ने फैक्टरी को सील किया है। लोनी ट्रॉनिका सिटी सेक्टर बी-3 प्लॉट नबर सी-14 में दिल्ली सुभाष मौहल्ला निवासी अजीम अहमद पिछले दो माह से अपने दो साथियों के साथ इस्तेमाल हैंड ग्लव्स को रिसाइकल कर मार्केट में बेच रहा था। आरोपी ने फैक्टरी मालिक जयपाल सिंह चौहान से फैक्टरी किराए पर ले रखी थी।

ट्रॉनिका सिटी थाना एसएचओ उमेश पवार ने बताया कि अजीम अपने दो साथियों जमीर निवासी सुभाष मौहल्ला और परवेज निवासी चावड़ी बाजार दिल्ली के साथ फैक्टरी में दिल्ली एनसीआर के अलग-अलग अस्पतालों से इस्तेमाल हैंड ग्लव्स लाकर यहां रिसाइकल करते थे। संचालक ने आसपास की 4 से 5 महिला मजदूरों को भी अपनी फैक्टरी में काम कर रख रखा था। एसएचओ ने बताया कि पुलिस को इस फैक्टरी के संचालक की सूचना मुखबिर से मिली थी। पुलिस ने बुधवार सुबह फैक्टरी में छापा मारा। मौके पर भारी मात्रा में हैंड ग्लव्स और पैकिंग मिली है। एसएचओ ने बताया कि हैंड ग्लव्स को रिसाइकल करने वाली मशीनों को फैक्टरी के साथ सील कर दिया है।

मार्केट भाव के अनुसार करीब 15 लाख रुपये का सामान होगा। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपियों से औऱ भी पूछताछ कर रही है। एसएचओ ने बताया कि इस फैक्टरी में इस्तेमाल हैंड ग्लव्स से कोरोना के फैलना का खतरा बना हुआ था। सभी हैंड ग्लब्स अस्पतालों से लाते है। इनमें वह भी अस्पताल है जो कोविड अस्पताल बने हुए है। 
कोरोना से एक आरोपी की महिला और बहन की मौत
अस्पतालों से इस्तेमाल हैंड ग्लव्स लाने पर कोरोना वायरस फैलने का खतरा बना रहा है। संचालक और उसके साथियों को कोरोना इतना भी भय नहीं था कि वह कोरोना ला रहे है। इनकी लापरवाही से इनके परिवार में कोरोना वायरस फैल रहा है। एक आरोपी परवेज ने पुलिस पूछताछ में बताया कि करीब 15 दिनों पहले कोरोना वायरस के चलते उसकी मां की मौत हो गई थी। वहीं करीब 20 दिनों पूर्व कोरोना से ही उसकी बहन की मौत हो गई थी।