पुणे में एनसीपी विधायक अन्ना बनसोड़े के बेटे पर एफआईआर


पुणे,(महाराष्ट्र)। पुणे से सटे पिंपरी के एनसीपी के विधायक अन्ना बनसोड़े पर फायरिंग करने वालों ने एक दूसरे के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। एक तरफ जहां विधायक अन्ना बनसोड़े के बेटे, पीए समेत 8 से 9 लोगों पर अपहरण और हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज करवाया गया है। वहीं दूसरी तरफ विधायक और उनके बेटे पर फायरिंग कर जान से मारने के प्रयास की एफआईआर तानाजी पवार समेत तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की गई है।
जानकारी के मुताबिक पिंपरी चिंचवड महानगरपालिका के कांट्रेक्टर सीजू एंथोनी के कार्यालय में सिद्धार्थ बनसोडे 11 मई की दोपहर को घुसे थे। जिसके बाद 2 कर्मचारियों पर हमले के मामले में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। लोहे की रॉड और घातक हथियारों से 2 लोगों पर हमला करने की वारदात सीसीटीवी में कैद हुई है। एंथोनी और उनके मैनेजर तानाजी पवार कहां है? यह पूछने पर जब कर्मचारियों ने कोई जवाब नहीं दिया तो गुस्से में विधायक के बेटे और पीए समेत 10 लोगों ने जान से मारने का प्रयास किया। ऐसी प्राथमिकी पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाई गई है।
गोलीबारी में बचे विधायक
एनसीपी विधायक अन्ना बनसोड़े पर ठेकेदारी के विवाद में बुधवार 12 मई को फायरिंग की गई थी। हालांकि इस घटना में किसी घायल होने की खबर नहीं है। स्थानीय पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है। यह घटना बुधवार दोपहर डेढ़ बजे के आसपास हुई है।
विधायक अन्ना बनसोडे ने एंथोनी नाम पर ठेकेदार को वार्ड में दो युवकों को काम पर लगाने के लिए कहा था। उस समय कांट्रेक्टर ने विधायक से ठीक से बात नहीं की थी। आरोप है कि दूसरे दिन सुबह कांट्रेक्टर एक आदमी के साथ आया और उसने विधायक पर फायरिंग कर दी। हालांकि इस पूरे प्रकरण की वजह क्या है यह पुलिस की जांच में सामने आएगा। इस मामले में पुलिस द्वारा एक व्यक्ति को गिरफ्तार किए जाने की भी बात सामने आ रही है।
अन्ना बनसोड़े साल 2019 में राष्ट्रवादी के टिकट पर पिंपरी विधानसभा से विधायक बने हैं इसके पहले में 2009 में 9 में भी चुनाव जीते थे बनसोडे ने 2019 में शिवसेना के विधायक गौतम चबुकस्वार को दो हज़ार मतों से हराया था। 2014 के चुनाव में उन्हें पराजय का मुंह देखना पड़ा था।