डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद की हत्या करने आया जैश का आतंकी जान मोहम्मद गिरफ्तार


  • डासना देवी मंदिर के मुख्य पुजारी यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ हत्या की साजिश का खुलासा
  • आरोपित साधु की वेश में जाकर महंत की हत्या करना चाहता था
  • आरोपित जान मोहम्मद डार उर्फ जहांगीर के पास से पिस्टल और मैगजीन बरामद की है
गाजियाबाद ब्यूरो। डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद महाराज की हत्या करने साधु के भेष में आए जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन के एक सदस्य को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसके कब्जे से पिस्टल ,दो मैगजीन और 15 जिंदा कारतूस के अलावा पूजा में इस्तेमाल होने वाली सामग्री और साधुओं के कपड़े भी बरामद किए हैं।
पुलिस ने गहनता से पूछताछ की तो उसने बताया कि यह आतंकी गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत यतींद्र सिंह आनंद महाराज की हत्या करने के लिए आया था। इस सूचना के बाद से देवी मंदिर के महंत ने अपनी सुरक्षा बढ़ा ली है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल टीम ने जो पुलवामा के जान मोहम्मद नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। उसने पूछताछ के दौरान बताया कि उसे जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन के द्वारा महाराज की हत्या करने की सुपारी दी गई थी।
दो पिस्टल और 15 जिंदा कारतूस बरामद
यह जानकारी डासना देवी मंदिर के महंत यती नरसिंहानंद महाराज को मिली तो उन्होंने कहा कि उन्हें मीडिया के माध्यम से जानकारी मिली है, कि दिल्ली पुलिस ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में रहने वाले जान मोहम्मद नाम के जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है। जो साधु के भेष में घूम रहा था। पुलिस ने उसके कब्जे से दो पिस्टल और 15 जिंदा कारतूस भी बरामद किये हैं।
यति नरसिंहानंद महाराज ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह हमेशा हिंदुओं के हित में बात करते हैं और पूरी दुनिया के सामने इस्लाम की सच्चाई लाने का प्रयास करते हैं। इसलिए विशेष धर्म के आतंकी संगठन उनकी हत्या करना चाहते हैं और इसे उनकी हत्या के लिए ही भेजा था। लेकिन दिल्ली पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है।
यति नरसिंहानंद महाराज कहा कि इससे पहले भी उनकी हत्या करने का प्रयास किया गया है और वह भी ऐसे आतंकियों से मुकाबले के लिए पूरी तरह तैयार बैठे हैं। उन्हें भगवान भोलेनाथ पर भरोसा है।