कोरोना मरीजों के लिए काशी विश्वनाथ मंदिर ने खोला खजाना, लोगों तक पहुंचा रहे हैं मदद


वाराणसी। देश में कोरोना महामारी बन चुकी है। भोले की नगरी काशी में भी कोरोना से हालात बेकाबू हैं। इन सब के बीच ऑक्सिजन, बेड और जीवन रक्षक दवाओं की किल्लत से भी लोग जूझ रहे हैं। कोरोना संकट के बीच भक्तों के मदद के लिए अब बाबा विश्वनाथ ने अपना खजाना खोल दिया है।
अस्पताल और घरों में टूटती सांसों की डोर जोड़ने के साथ ही मंदिर के सेवादार अब अस्पताल और होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को दवा और मेडिकल उपकरण पहुंचा रहे हैं। इसके साथ ही मंदिर के सेवादार जरूरतमंद लोगों को ऑक्सिजन के सिलिंडर भी दे रहे हैं।
अस्पतालों में भी कर रहे सहयोग
इन सब के अलावा मंदिर प्रशासन दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल शहर के उद्योगपति के सहयोग से लगे ऑक्सिजन प्लांट में अतिरिक्त खर्चे को भी वहन कर रही है। साथ ही बीएचयू और होमी भाभा कैंसर अस्पताल में 3 संविदा कर्मी भी मंदिर के खर्च पर लगाए गए हैं।
कोरोना मरीजों के इलाज पर खर्च कर रहा पैसे
काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि आपदा के इस दौर में मंदिर ट्रस्ट ने नर सेवा-नारायण सेवा के मंत्र के साथ मंदिर के चढ़ावे में आए पैसों को कोरोना मरीजों के इलाज पर खर्च कर रहा है। कोरोना मरीजों के लिए दवाओं की किट भी हम लोगों ने इन पैसों से स्थानीय प्रशासन को उपलब्ध कराए हैं। अस्पतालों में मदद के अलावा अब तक मन्दिर प्रशासन ने सैकड़ों लोगों को मदद पहुंचाई है।