भजनपुरा में सोसायटी का गेट खोलने को लेकर दो पक्षों के बीच मारपीट में 12 जख्मी, पुलिस ने संभाला मोर्चा नहीं तो बन जाते दंगों जैसे हालात


दिल्ली ब्यूरो। राजधानी अभी उत्तर-पूर्वी दिल्ली के दंगों को भूली नहीं है और शुक्रवार रात को दो पक्षों के बीच हुए मामूली झगड़े के बाद दोबारा जिले की शांति को भंग करने का प्रयास किया गया। दरअसल सोसायटी का गेट खोलने को लेकर दोनों पक्षों के बीच मारपीट हो गई। दोनों ओर से जमकर कर बवाल हुए। हमले में छह महिलाओं समेत कुल दर्जनभर लोग जख्मी हो गए। 
लोगों ने घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। समय पर पुलिस अलर्ट हुई और हालात को काबू कर लिया गया। फिलहाल मौके पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। घायलों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। हमले में ज्यादातर लोगों के सिर फूट गए हैं। 
पुलिस ने दोनों पक्षों का बयान लेकर क्रॉस केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने भाईचारा समिति की बैठक बुलाकर लोगों से शांति बनाने की अपील की है। पुलिस ने लोगों से गुजारिश की कि वे किसी तरह की अफवाह में न आएं।
पुलिस के मुताबिक वारदात शुक्रवार देर रात करीब 12 बजे यमुना विहार सी-7 ब्लॉक में हुई। यहां सी-7 ब्लॉक की एंट्री पर गेट लगा हुआ है, जहां राजेश मिश्रा नामक सुरक्षा गार्ड तैनात था। देर रात को विजय पार्क निवासी विपिन वहां पहुंचा। वह डीटीसी में कर्मचारी है। 
उसने सुरक्षा गार्ड से दरवाजा खोलने के लिए कहा। राजेश ने मना कर दिया तो आरोपी उसके साथ गाली-गलॉज करने लगा। आवाज सुनकर गेट के पास ही सी-135 में रहने वाले यासीन (38) वहां पहुंच गए। उन्होंने विपिन से दूसरे रास्ते से जाने के लिए कहा तो विपिन ने उनके साथ भी गाली-गलॉज शुरू कर दी। 
कहासुनी के दौरान यासीन के परिजन वहां पहुंच गए, इन लोगों ने विपिन की पिटाई कर दी। मार पिटाई के दौरान विपिन ने अपने मिलने-जुलने वालों व परिजनों को कॉल कर दिया। इसके बाद दोनों ओर से लोग इकट्ठा हो गए। इन लोगों ने एक दूसरे पर हमला कर दिया। जमकर लाठी-डंडे, पथराव हुआ। आरोप है कि विपिन की ओर से आए लोगों ने यासीन के परिजनों को घर में घुसकर पीटा।
काफी देर तक चले विवाद के बाद मामले की सूचना पुलिस को मिली। फौरन पुलिस बल मौके पर बुला लिया गया। घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। झगड़े के दौरान लोगों ने इसका वीडियो बनाकर घटना को सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास किया। पुलिस को जैसे ही इसका पता चला, पुलिस ने अतिरिक्त सुरक्षा बलों को मौके पर बुला लिया। 
फिलहाल इलाके में तनाव बना हुआ है। हमले में घायल महिलाओं व पुरुषों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है। पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों को बुलाकर भाईचारा कायम रखने के लिए कहा है। फिलहाल दोनों ओर से मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। पुलिस सोशल मीडिया पर भेजे गए वीडियो, सीसीटीवी कैमरों व मोबाइल के वीडियो के आधार पर मामले की जांच कर रही है। पुलिस मुख्य आरोपी विपिन व यासीन से पूछताछ कर छानबीन कर रही है।