गाजियाबाद में एक ही संपत्ति पर 23 अलग-अलग बैंकों से लिया 85 लाख का लोन


प्रेम प्रकाश ,(गाजियाबाद)। गाजियाबाद जिले के इंदिरापुरम थाना इलाके के शक्ति खंड तीन में रहने वाले दो व्यक्तियों द्वारा शिवालिक मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक से फर्जी दस्तावेज तैयार कर 85 लाख रुपये कर्ज लेने का मामला सामने आया है। बैंक की ओर से इंदिरापुरम थाने में शिकायत दी गई है। इंदिरापुरम पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। 
नोएडा सेक्टर-27 स्थित शिवालिक मर्केंटाइल कोऑपरेटिव बैंक की नोएडा सेक्टर-27 स्थित शाखा से मैसर्स गोल्डन फ्रूडस के प्रोपराइटर उमेश गर्ग ने लोन के लिए आवेदन किया। इसमें उन्होंने शक्ति खंड तीन स्थित अपने व गारंटर अजय के तीन मंजिला मकान को गिरवी रखा था। 
बैंक का आरोप है कि इसके आधार पर 85 लाख रुपये लोन उन्हें दे दिया गया। बैंक की जांच में सामने आया कि शक्ति खंड तीन वाले मकान और भोपुरा स्थित एक अन्य मकान के फर्जी दस्तावेज तैयार कर दोनों ने लोन लिया है। बैंक का यह भी दावा है कि दोनों काफी शातिर हैं और उन्होंने फर्जी दस्तावेज के माध्यम से ही 23 अन्य बैंकों से भी लोन लिया हुआ है। 
बैंक को जब फर्जीवाड़े की जानकारी हुई तो एसएसपी गाजियाबाद को मामले की शिकायत दी गई। तीन जून को दोनों के खिलाफ फर्जीवाड़ा करने के मामले में रिपोर्ट दर्ज की गई है। 
एसएचओ इंदिरापुरम संजीव शर्मा ने बताया कि बैंक की शिकायत पर उमेश गर्ग और गारंटर अजय के खिलाफ फर्जीवाड़ा करने की विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच की जा रही है।