मध्य प्रदेश पुलिस के 3 'दागी' चेहरे, महिला को होटल भेजकर बुनते जाल फिर कमाते लाखों रुपये


  • होशंगाबाद जिले में पुलिसवाले चला रहे थे हनीट्रैप गैंग
  • गैंग में एक महिला पुलिसकर्मी भी थी शामिल, तीनों निलंबित
  • पुरुषों को होटल में बुलाकर बनाते थे वीडियो, फिर करते ब्लैकमेल
  • गिरोह के लोग अमीर पुरुषों को करते थे टारगेट
होशंगाबाद। मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में हनीट्रैप गैंग चलाने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है। इस गैंग में मध्य प्रदेश पुलिस के तीन लोग भी शामिल थे, जिन्हें एसपी ने निलंबित कर दिया गया है। निलंबित होने वालों में दो पुरुष पुलिस वाले और एक महिला पुलिसकर्मी है। तीनों पर आरोप है कि ये एक महिला का सहारा लेकर वीडियो और तस्वीर की मदद से अलग-अलग लोगों को ब्लैकमेल कर रहे थे।
पुलिस जांच में पता चला है कि भोपाल के मंडीदीप की रहने वाली महिला अमीर पुरुषों पर डोरे डालती थी और उन्हें अपने जाल में फंसा लेती थी। आरोप है कि होटल में बुलाकर महिला अमीर पुरुषों के साथ शारीरिक संबंध बनाने को भी राजी हो जाती थी, जिसके बाद वह उनका वीडियो बना लेती थी।
इसके बाद एमपी पुलिस के ये तीनों जवान जांच की बात कहकर महिला की जाल में फंसने वाले शख्स को पूछताछ और जांच के नाम पर बुलाते थे। इस दौरान मामले को रफा-दफा करने के नाम पर पैसे वसूलते थे।
आरोप है कि इस हनीट्रैप गैंग ने अब तक कई लोगों को लाखों का चूना लगाया है। इस बीच एक पीडित शख्स ने पुलिस महकमे के आलाधिकारियों से इस बात की शिकायत कर दी। जांच टीम ने तीनों पुलिसकर्मियों को अरेस्ट कर लिया है। होशंगाबाद पुलिस का कहना है कि फिलहाल तीनों आरोपी पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है। विभागीय जांच में दोषी पाए जाने के बाद और भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।
होशंगाबाद के एसपी संतोष गौर ने बताया कि एक शिकायत आई थी कि कुछ पुलिसकर्मी एक महिला के साथ मिलकर कुछ लोगों को ब्लैकमेल किया है। शिकायत की जांच में पाया गया कि महिला को माध्यम बनाकर थाना कोतवाली में पदस्थ सब इंस्पेक्टर, प्रधान आरक्षक और एक आरक्षक मिलकर विक्टिम को बुलाते और मामले को रफादफा करने के एवज में मोटी रकम वसूलते थे।