गाजियाबाद में प्‍लॉट दिलाने के नाम पर जेल सुपरिन्‍टेंडेंट से ही ठग लिए 32 लाख रुपये


  • राजनगर एक्सटेंशन में प्लॉट दिलाने के नाम पर गाजीपुर के जेल अधीक्षक से 32 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है
  • पुलिस ने कम्पनी के डायरेक्टर व दो पार्टनर के अलावा जमीन के मालिक समेत 4 के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है
  • आरोपियों के खिलाफ गाजियाबाद और मेरठ के विभिन्न थानों में इनके खिलाफ करोड़ों की ठगी के 13 मामले और दर्ज हैं
गाजियाबाद ब्यूरो। गाजियाबाद की पॉश कॉलोनी राजनगर एक्सटेंशन में प्लॉट दिलाने के नाम पर गाजीपुर के जेल अधीक्षक से 32 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। पीड़ित ने इस मामले की शिकायत गाजियाबाद के एसएसपी से की है जिसके बाद थाना नंद ग्राम पुलिस ने कम्पनी के डायरेक्टर व दो पार्टनर के अलावा जमीन के मालिक समेत कुल 4 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
गाजीपुर के जेल अधीक्षक राजेंद्र कुमार ने बताया कि उनका परिवार शाहदरा की न्यू मॉडल कॉलोनी में रहता है। उनके पास 2018 में आवास विकास रियलिटी सॉल्यूशंस कंपनी से फोन आया। फोन में उन्हें गाजियाबाद की पॉश कहलाई जाने वाली कॉलोनी राज नगर एक्सटेंशन की मनोकामना रीजेंसी सोसाइटी में अच्छी लोकेशन पर प्लॉट और विला दिलाने की बात कही।
जिसके बाद वह कंपनी पहुंचे तो वहां पर नीरज नाम के शख्स ने अपने पार्टनर मुकेश त्यागी और समय वीर से मुलाकात कराई। जिन्होंने 100 गज का एक प्लॉट दिखाया और उसका सौदा 30 लाख में तय हो गया और 29 सितंबर को नीरज गोस्वामी ने उनकी पत्नी को एक एग्रीमेंट कर दिया। जिसके बाद रजिस्ट्री की कीमत समेत 31 लाख 85 हजार रुपए भी दिए गए।
लेकिन उसके बाद भी उन्होंने रजिस्ट्री नहीं कराई और लगातार आनाकानी करते रहे। राजेंद्र कुमार का आरोप है कि जब उन लोगों से पैसे वापस मांगे तो उन्होंने जान से मारने की धमकी भी दी। उसके बाद इन लोगों की जानकारी की गई तो पता लगा कि गाजियाबाद और मेरठ के विभिन्न थानों में इनके खिलाफ करोड़ों की ठगी के 13 मामले और दर्ज हैं। इसलिए अब उन्होंने परेशान होकर एसएसपी से न्याय की गुहार लगाई है।
पहले से ही दर्ज हैं 13 ठगी के मामले
क्षेत्राधिकारी अवनीश कुमार का कहना है कि गाजीपुर के जेल अधीक्षक राजेंद्र कुमार की तहरीर के आधार पर आवास विकास रियलिटी सॉल्यूशंस कंपनी बागपत के डायरेक्टर नीरज गोस्वामी और उसके पार्टनर लालकुआं निवासी मुकेश त्यागी व वीर सिंह त्यागी के अलावा जमीन के मालिक मंगत सिंह निवासी सिहानी गेट के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि अभी तक की जानकारी के मुताबिक पता चला है कि इनके खिलाफ मेरठ और गाजियाबाद के थानों में भी ठगी के मामले दर्ज हैं और इस पूरे मामले की भी गहनता से जांच की जा रही है। जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर अग्रिम वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।