आधी रात में दिया रक्तदान, यूपी के ट्रैफिक इंस्पेक्टर ने बचाई 6 महीने की बच्ची की जान


बुलंदशहर,(उत्तर प्रदेश)। बुलंदशहर के एक अस्पताल में भर्ती छह माह की बच्ची को ब्लड न मिलने से हालत बिगड़ती जा रही थी। परिजनों ने एक संस्था से मासूम बच्ची के लिए AB पॉजिटिव ब्लड की मांग की थी। संस्था के अनुरोध पर ट्रैफिक इंस्पेक्टर शौर्य कुमार देर रात अस्पताल पहुंचे और ब्लड डोनेट किया। जिसके बाद परिजनों ने इंस्पेक्टर शौर्य कुमार का आभार व्यक्त किया। साथ ही अन्य लोग भी इंस्पेक्टर के इस कार्य की सराहना कर रहे हैं।
सूचना मिलते ही ट्रैफिक इंस्पेक्टर शौर्य कुमार ब्लड बैंक पहुंचे
जानकारी के अनुसार, नरसेना थाना एरिया के कमालपुर गांव निवासी रोहताश कुमार ने सामाजिक संस्था राष्ट्र चेतना मिशन के अध्यक्ष हेमन्त सिंह से संपर्क कर ब्लड की मांग की थी। संस्था को बताया कि उनकी छह माह की बेटी डॉ. मनोज अग्रवाल अस्पताल में भर्ती है। बच्ची को AB पॉजिटिव ब्लड की आवश्यकता है और काफी प्रयास के बाद उन्हें ब्लड नहीं मिल पा रहा है। संस्था के अध्यक्ष ने पुलिस से ब्लड की व्यवस्था करने की गुहार लगाई थी। जिसकी सूचना मिलने पर ट्रैफिक इंस्पेक्टर शौर्य कुमार ब्लड बैंक पहुंच गए। यहां उन्होंने ब्लड डोनेट किया।
ब्लड न मिलने से बच्ची की हालत बिगड़ती जा रही थी
परिजन रोहताश कुमार का कहना है कि ब्लड की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। काफी प्रयास करने के बाद निराशा ही हाथ लग रही थी। उधर, ब्लड न मिलने की बच्ची की हालत बिगड़ती जा रही है। उन्होंने संस्था और पुलिस इंस्पेक्टर का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि इसका अहसान कभी नहीं उतार पाएंगे। राष्ट्र चेतना मिशन के अध्यक्ष हेमन्त सिंह ने बच्ची के प्राण के लिए दिए गए रक्तदाता के लिए शौर्य कुमार को सम्मान पत्र देकर अभिनंदन किया।