दिल्ली पुलिस के आईपीएस और एलजी हाउस में पोस्टेड दानिक्स अधिकारी को ठगने वाले गिरफ्तार


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। दिल्ली पुलिस के आईपीएस और एलजी हाउस में पोस्टेड दानिक्स अधिकारी को ठगने वाले ठगों को तीसरी बार नॉर्थ जिले की टीम ने पकड़ा है। आरोपी अब तक डेढ़ करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी कर चुके हैं और दिल्ली के अलावा दूसरे राज्यों में भी अरेस्ट हो चुके हैं। पहली बार आरोपियों को 2019 अगस्त में गिरफ्तार किया गया था, जब इन्होंने आईपीएस और दानिक्स अधिकारी को शिकार बनाया था। हालांकि उसी दौरान एक और शख्स ने पुलिस को ठगी की शिकायत दी थी, लेकिन वह आरोपियों से लिंक नहीं हो पाई थी।
पुलिस ने बताया कि 2020 की जून में दोबारा उस पुराने मामले की ठगी की जांच शुरू हुई तो फिर से आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। अब उनको तीसरी बार गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों का नाम विकास झा, हिमांशु और अविनाश है, जिसमें हिमांशु पहली बार इस टीम के हत्थे चढ़ा है। हालांकि हिमांशु पहले फरीदाबाद जेल में था, जहां साल 2018 में उसकी मुलाकात विकास से हुई थी। पुलिस के मुताबिक, हर बार आरोपी एक ही तरह से जाल बिछाते थे। वह फर्जी वेबसाइट तैयार करते थे, जिसमें क्रेडिट कार्ड पॉइंट्स रिडीम करवाने, गिफ्ट वाउचर देने के बहाने कार्ड डिटेल भरवा लेते थे। उसी फॉर्म में पासवर्ड भी भरवा लिया जाता था, जिससे ओटीपी मांगने की जरूरत ही न पड़े। डीसीपी नॉर्थ अंटो अल्फोंस ने बताया कि नॉर्थ जिले में क्रेडिट कार्ड से ठगी की सूचना मिली थी। इसके बाद एसआई रोहित की देखरेख में, एएसआई राजीव, हेड कॉन्स्टेबल सुनीता की टीम बनाई गई। टेक्निकल सर्विलांस के बाद आरोपियों के ऊपर टीम को शक हुआ, जिसके बाद चार दिन लगातार आगरा, नोएडा, चंडीगढ़ और गुरुग्राम में आरोपियों का पीछा किया गया। आखिरकार उनको एक्सप्रेसवे पर पकड़ लिया गया। आरोपी कोरोना के दौरान जेल से छूटे थे, लेकिन फिर वह भाग गए। आरोपी के खिलाफ गैर जमानती वॉरन्ट भी जारी हो चुका है।