फर्जी दरोगा बनकर काट रहा था चालान, असली पुलिस पहुंची तो जोड़ने लगा हाथ


बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली जिले की बिथरी चैनपुर की थाना पुलिस उस वक्त हैरान रह गई, जब एक होमगार्ड ने सूचना दी कि कोई नया दरोगा दोहरा रोड पर मास्क न पहनने वालों के चालान काटकर लोगों से 500-500 रुपये जुर्माना वसूल रहा है और उस दरोगा को पहले कभी इधर देखा नहीं गया। दरअसल, मंगलवार को होमगार्ड डोहरा रोड से निकल रहा था तो उसने वसूली होते देखी थी।
असली पुलिस पहुंची तो मांगने लगा माफी
होमगार्ड की सूचना के बाद थाना प्रभारी और रामगंगा नगर चौकी प्रभारी पूरा माजरा जानने के लिए डोहरा रोड पर पहुंचे तो देखा, टू स्टार लगाए दरोगा की वर्दी में कोई चालान करके 500-500 रुपये जुर्माना वसूल रहा है। चौकी प्रभारी ने उसके पास जाकर कहा, 'हमारा भी चालान काट दो' तो वसूली में मशगूल वर्दीधारी की नजर उन पर पड़ी। असली पुलिस देख उसकी सिट्टी-पिट्टी गुम हो गई। उसने असली वर्दी धारकों से कबूल किया कि वह नकली दरोगा है और वह माफी मांगने लगा।
नीली बत्ती लगी ब्रेजा गाड़ी का कर रहा था इस्तेमाल
नकली दरोगा बाकायदा पूरे रुतबे से वसूली कर रहा था। इसके लिए उन्होंने सड़क किनारे नीली बत्ती लगी ब्रेजा गाड़ी खड़ी कर रखी थी। इस पर पुलिस का कलर भी था, ताकि कोई उसके नकली दरोगा होने का अहसास न कर पाए।
सेना से रिटायर्ड सिपाही है नकली दरोगा
पुलिस ने थाने लाकर पूछताछ की तो नकली दरोगा ने अपना नाम लाखन सिंह बताया। बताया कि वह मूल रूप से अलीगढ़ जिले का रहने वाला है और काफी समय से बरेली में रह रहा है। उसे पैसे का लालच आ गया इसलिए उसने मास्क न पहनने वालों का चालान करके अवैध वसूली करने की तरकीब सोची। वह एक-दो दिन पहले से वसूली कर रहा था लेकिन पकड़ा मंगलवार को गया।
गाजियाबाद से चोरी की निकली ब्रेजा गाड़ी
बरेली के एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने बताया कि पकड़े गए नकली दरोगा ने पूछताछ में जानकारी दी कि उसके पास से बरामद ब्रेजा कार पर फर्जी नम्बर प्लेट लगी है। यह गाड़ी गाजियाबाद से चोरी की गई है। पकड़े गए लाखन सिंह से पुलिस पूछताछ कर रही है। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।