ट्विटर इंडिया के एमडी को कर्नाटक हाईकोर्ट से अंतरिम राहत, गिरफ्तारी पर पांच दिन की रोक


गाजियाबाद ब्यूरो। बुलंदशहर निवासी बुजुर्ग की लोनी में दाढ़ी काटने के मामले में वायरल वीडियो को लेकर ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी को पूछताछ के लिए गुरुवार को लोनी थाने पहुंचना था। लेकिन वह थाने नहीं पहुंच सके क्योंकि उन्होंने गिरफ्तारी से बचने के लिए कर्नाटक हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर कर दी थी। कर्नाटक हाईकोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करते हुए गाजियाबाद पुलिस को कहा है कि आप इस तरह सख्ती नहीं बरत सकते। आप वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पूछताछ कीजिए। मनीष माहेश्वरी ने अपना पक्ष रखते हुए कोर्ट में कहा कि वह कंपनी के निदेशकों में शामिल नहीं हैं। कंपनी के निदेशक विदेश में बैठे हैं। वह यहां सेल्स एंड मार्केटिंग का काम देखते हैं ऐसे में उनकी जिम्मेदारी इसकी नहीं है कि ट्विटर पर कैसा कंटेंट डाला जा रहा है। उनका पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने गाजियाबाद पुलिस को उनसे सख्ती न बरतने के निर्देश दिए हैं साथ ही वर्चुअल माध्यम से पूछताछ के लिए कहा है।
कर्नाटक के कोर्ट ने आदेश दिया है कि सोमवार तक टि्वटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी की गिरफ्तारी नहीं होगी। इस बीच पुलिस को एमडी से कोई बयान दर्ज कराना है तो वह वर्चुअल बयान दर्ज करा सकते हैं। पुलिस ने वर्चुअल बयान लेने से मना करते हुए सोमवार तक इंतजार करने की बात कही है।
वहीं सुबह से ही उनके आने का इंतजार मीडियाकर्मी लोनी थाने के बाहर कर रहे थे और उनका जमावड़ा लग गया था। मीडियाकर्मियों के जमावड़े के चलते लोनी थाने के बाहर ट्रैफिक जाम हो गया था। लोनी बॉर्डर थाने पर ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष से सवाल जवाब करने के लिए आईओ और सीओ अतुल कुमार सोनकर मौजूद रहे।
एक ओर जहां गाजियाबाद थाने में मनीष माहेश्वरी का इंतजार चल रहा है तो दूसरी तरफ गिरफ्तारी से बचने के लिए माहेश्वरी के अधिवक्ता ने कर्नाटक हाईकोर्ट में याचिका डाली थी। लोनी थाना प्रभारी अखिलेश मिश्र ने बताया कि टि्वटर के एमडी मनीष माहेश्वरी के अधिवक्ता शशांक जैन से फोन पर बात हुई थी। कर्नाटक हाईकोर्ट में अधिवक्ता ने प्रोडक्शन के लिए याचिका डाली थी।


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर