यूपी के प्रतापगढ़ में संदिग्ध परिस्थितियों में पत्रकार की मौत, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया वेलफेयर क्लब ने उठाई जांच की मांग


  • यूपी के प्रतापगढ़ में संदिग्ध परिस्थितियों में पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत हो गई
  • एक दिन पहले ही सुलभ ने अपनी जान का खतरा बताते हुए पुलिस को पत्र लिखा था
  • कवरेज से लौटने के बाद संदिग्ध हालातों में हुई मौत, परिवार ने की जांच की मांग
प्रतापगढ़। यूपी के प्रतापगढ़ में संदिग्ध परिस्थितियों में पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत हो गई। एक दिन पहले ही उन्होंने अपनी जान का खतरा बताते हुए पुलिस को पत्र लिखा था। बताया जा रहा है कि प्रतापगढ़ में कटरा इलाके से रविवार को सुलभ पुलिस की एक खबर कवरेज करके वापस आ रहे थे। उसी दौरान उनकी बाइक खंभे और हैंडपंप से टकरा गई और मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस के अनुसार वहां पर मौजूद मजदूरों ने पुलिस को सूचना दी। सुलभ श्रीवास्तव पिछले काफी समय से शराब माफियाओं के खिलाफ खबरें लिख रहे थे जिसके बाद वह काफी चर्चा में थे। सुलभ के परिवार और स्थानीय पत्रकार समूहों ने हत्या की आशंका जताते हुए आलाअधिकारियों से मामले की जांच की मांग की है।
शराब माफिया से बताया था जान का खतरा
रेलवे स्टेशन के पास रहने वाले सुलभ ने 12 जून को एक लेटर के जरिए प्रतापगढ़ एसपी, एडीजी जोन प्रयागराज से अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई थी। लेटर में शराब माफिया से अपनी जान का खतरा बताया था और दूसरे दिन ही ऐसी घटना सामने आई है। फिलहाल इस मामले में पुलिस जांच कर रही है लेकिन अब कई सवाल सामने खड़े हो रहे हैं। इस मामले में पुलिस अपनी कार्रवाई में जुट गई है और हर पहलुओं पर जांच कर रही है।
वहीं घटना में एसपी प्रतापगढ़ ने बताया, 'ऐक्सिडेंट की सूचना मिली थी और डेड बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। इस घटना के हर पहलुओं पर जांच की जा रही है।' सुलभ श्रीवास्तव एबीपी न्यूज के लिए रिपोर्टर के तौर पर प्रतापगढ़ में काम करते थे। सुलभ के देहांत के बाद अब परिवार वालों ने उन की सड़क हादसे में मौत नहीं बल्कि शराब माफिया पर हत्या का शक जताया है।
इलेक्ट्रॉनिक मीडिया वेलफेयर क्लब ने उठाई जांच की मांग
सुलभ श्रीवास्तव की मौत पर प्रयागराज इलेक्ट्रॉनिक मीडिया वेलफेयर क्लब और प्रतापगढ़ प्रेस क्लब ने इस पूरे घटनाक्रम की जांच की मांग उठाई है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया वेलफेयर क्लब के अध्यक्ष आलोक सिंह ने एडीजी जोन प्रेम प्रकाश से इस पूरे घटनाक्रम पर बात करते हुए जांच की मांग की है। वही एडीजी जोन प्रेम प्रकाश ने इस पूरे घटना पर जांच करवाने की बात कह रहे हैं।