गाजियाबाद के वैशाली की सोसायटी में अचानक फटी एक लाख लीटर पानी टंकी, मची भगदड़


सूर्य प्रकाश,(गाजियाबाद)। सेक्टर-1 की एक्सप्रेस ग्रीन सोसायटी में बुधवार दोपहर बड़ा हादसा बच गया। सोसायटी के एक टावर की 13वीं मंजिल पर रखी पानी की टंकी तेज धमाके के साथ फट गई। इस टंकी से 78 फ्लैट्स में पानी की सप्लाई होती थी। पानी का बहाव और धमाका इतना तेज था कि इसकी आवाज पूरे टावर के हर फ्लैट में सुनाई दी। इससे दहशत में आए लोग सीढ़ियों के रास्ते नीचे भागे।
करीब दो घंटे से भी ज्यादा वक्त तक लोग अपने घरों में नहीं घुसे। घटना के बाद एक लाख लीटर पानी 13वीं मंजिल से नीचे की ओर बहा तो सभी फ्लैट्स में घुस गया। पानी के बहाव के कारण टंकी जिस सीमेंट के बेस पर रखी थी, उसकी दीवार भी ढह गई। इसका मलबा भी तेजी के साथ 12वीं और 13वीं मंजिल पर बिखर गया।
आरडब्ल्यूए प्रेजिडेंट प्रभात भट्टाचार्य ने बताया कि सोसायटी में कुल 6 टावर हैं। ए ब्लॉक की टंकी फटी थी। पानी की गति से ऐसा लगा कि बाढ़ आई है। भगवान का शुक्र है कि इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी किसी को चोट नहीं आई। पानी की टंकी फटने पर बिजली का कनेक्शन भी काटना पड़ा।
घरों में घुसा तीन फीट से अधिक पानी
स्थानीय निवासी मोहित ने बताया कि ऊपरी मंजिल के अधिकतर फ्लैट में तीन फीट से अधिक पानी घुस गया था। पानी की टंकी फटने से ए टावर की बिल्डिंग को भी नुकसान हुआ है। दीवारों पर क्रैक आया है। इसे तुरंत मरम्मत की जरूरत है। दोपहर से शाम तक लोग फ्लैटों से पानी निकालते रहे। कई लोगों के महंगे सोफे भीगकर खराब हो गए।
थाने में बिल्डर के खिलाफ शिकायत
प्रभात भट्टाचार्य ने बताया कि 2012 से ही सोसायटी का मेंटिनेंस बिल्डर के पास है। कई दिनों से बिल्डर केवल मेंटिनेंस का आश्वासन दे रहा है। सोसायटी के लोग कई बार शिकायत कर चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद कार्रवाई नहीं हुई है। प्रभात ने बताया कि इतनी बड़ी घटना होने के बाद अब इस पूरे मामले की शिकायत पुलिस से की गई है। इस संबंध में बात करने के लिए बिल्डर को कॉल किया गया, लेकिन बात नहीं हो पाई।