फर्जी कागजों पर नौकरी करने वाली टीचर अनामिका शुक्ला गिरफ्तार,पुलिस ने भेजा जेल


  • यूपी में पिछले साल अनामिका शुक्ला नाम की शिक्षिका काफी चर्चित रही थी
  • यह शिक्षिका आधा दर्जन से ज्यादा जिलों के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में फर्जी कागजातों से नौकरी कर रही थी
  • फर्जीवाड़ा सामने आने पर रायबरेली बेसिक शिक्षा अधिकारी ने मुकदमा भी दर्ज कराया था
  • इसके बाद प्रशासन ने 15 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया था
रायबरेली। यूपी में पिछले साल अनामिका शुक्ला नाम की शिक्षिका काफी चर्चित रही थी। यह शिक्षिका आधा दर्जन से ज्यादा जिलों के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में फर्जी कागजातों से नौकरी कर रही थी। फर्जीवाड़ा सामने आने पर रायबरेली बेसिक शिक्षा अधिकारी ने मुकदमा भी दर्ज कराया था।इसके बाद प्रशासन ने 15 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया था। इसी मामले में रायबरेली पुलिस ने कल लखनऊ से उसे गिरफ्तार कर लिया। यह शिक्षिका अनामिका शुक्ला के नाम से जिले के बछरावां विकासखंड में संचालित कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालय में शिक्षिका के पद पर तैनात थी।
पुलिस ने 15 हजार की इनामी चल रही शिक्षिका को किया गिरफ्तार
बछरांवा विकासखंड में संचालित चल रहा कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में अनामिका शुक्ला नाम की एक शिक्षिका विज्ञान वर्ग में पूर्णकालिक पद पर तैनात थी। लेकिन उसके नाम पर नौकरी करने वाली व वेतन आहरित करने वाली अंजलि नाम की युवती थी जो कि कन्नौज के सौरिख की रहने वाली थी। ये गोलमाल सिर्फ रायबरेली का ही नहीं बल्कि अनामिका शुक्ला के नाम से अम्बेडकर नगर, बागपत, सहारनपुर, अलीगढ़, वाराणसी, कासगंज व अमेठी में भी शिक्षिका की तैनाती थी और हर माह वेतन भी लिया जा रहा था।
रायबरेली के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने दर्ज कराया था मुकदमा
यह मामला जब मीडिया में आते ही रायबरेली के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बछरांवा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई। मामले की विवेचना कर रही बछरांवा पुलिस ने आरोपी की तलाश की तो वो गायब हो गई। 20 जून को बछरांवा पुलिस को मुखबिर खास से सूचना मिली कि आरोपी लखनऊ के बालागंज में हेल्थ प्वाइंट में नौकरी कर रही है। पुलिस ने अपना जाल बिछाया और आरोपी अंजलि को गिरफ्तार कर लिया और उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवाताव ने बताया अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवाताव ने बताया कि बीएसए रायबरेली के द्वारा बछरांवा थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी कि बछरांवा में संचालित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में अनामिका शुक्ला के नाम के कागजातों पर दूसरी युवती पूर्णकालिक नौकरी कर रही है और वेतन ले रही है।
पुलिस ने भेजा जेल
मुकदमा दर्ज होते ही बछरांवा पुलिस ने आरोपी युवती की तलाश शुरू की और उस पर 15 हजार का इनाम घोषित कर दिया। कल पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी मंजेश उर्फ अंजलि लखनऊ में हेल्थ प्वाइंट में नौकरी कर रही है। जानकारी मिलते ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया।