लॉकडाउन में बंद थीं दुकानें,फिर दोगुना कैसे हो गया बिजली बिल?


  • गाजियाबाद में दुकानदारों के बिजली बिल में गड़बड़ी
  • दुकान बंद होने के बावजूद दोगुना आया बिजली का बिल
  • उद्योग व्यापार मंडल के पास 50 से ज्यादा शिकायतें
  • बिजली विभाग बोला- ऑनलाइन की वजह से गड़बड़ी
गाजियाबाद ब्यूरो। कोरोना के कारण बाजार बंद हुए तो दुकानदारों का काम-धंधा ठप हो गया। हालत इतनी खराब हो गई कि घर खर्च के लिए भी परेशानी होने लगी। दुकानें बंद होने के बावजूद किराया, बिजली बिल और स्टाफ की सैलरी को लेकर दुकानदार टेंशन में थे कि दिक्कत और बढ़ गई। वैशाली मार्केट के दुकानदारों को बंद दुकानों के ही दोगुने बिजली बिल मिलने लगे। इस बीच बिजली विभाग ने सफाई दी है कि ऑनलाइन बिल बनने की वजह से शिकायतें आ रही हैं।
दुकानदारों का कहना है कि यहां अप्रैल से ही कमाई नहीं हुई है। दुकानें बंद हैं, लेकिन बिजली के बिल दोगुने आ गए हैं। जहां पहले बिल पंद्रह सौ रुपये आता था। वहां बंद दुकान का बिल चार हजार तक आ गया है। कई दुकानें जो पहले पूरे दिन चलती थी, तब उनका बिल चार हजार आता था। अब दुकान बंद होने पर भी ज्यादा बिल आया है। दुकानदारों का कहना है कि विद्युत निगम से संपर्क भी किया, लेकिन अनुमानित बिल कहकर लौटा दिया गया है। दुकानदारों का कहना है कि कमाई ही नहीं हुई तो वे बिल कहां से जमा करेंगे और अनुमानित बिल बनाने से पहले विद्युत निगम को देखना चाहिए था कि बिल घर का है या फिर बंद दुकान का।