कानपुर में प्रधान के भाई ने वैक्सीन लगाने गई टीम को हंसिया लेकर दौड़ाया


कानपुर ब्यूरो। कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में तरह-तरह की भ्रांतियां फैली हैं, जिसका खामियाजा स्वास्थ्य विभाग की टीमों को भुगतना पड़ रहा है। कानपुर के मदारपुर गांव में कोरोना वैक्सीन लगाने गई टीम को ग्राम प्रधान के भाई ने हंसिया लेकर दौड़ा लिया। किसी तरह से महिला स्वास्थ्य कर्मी और अन्य कर्मचारियों ने भाग कर जान बचाई। एएनएम की तहरीर पर प्रधान और उसके भाई पर केस दर्ज किया गया है। इसके साथ वैक्सिनेशन कैंप के लिए सुरक्षा की मांग की गई है। प्रधान के भाई की करतूत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।
बिल्हौर थाना क्षेत्र स्थित देवकली ग्राम सभा के मदारपुर गांव में बीते मंगलवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम 45 साल से ऊपर वालों को वैक्सीन लगाने के लिए पहुंची थी। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने प्राइमरी स्कूल में वैक्सीनेशन कैंप लगाया था। एएनएम संगीता कमल के मुताबिक वैक्सीनेशन का काम चल रहा था। इसी दौरान ग्राम प्रधान सुमंत कटियार का भाई बबलू नशे की हालत में कैंप के अंदर आ धमका।
हंसिया लेकर दौड़ाया
एएनएम संगीता कमल ने बताया कि बबलू के हाथ में हंसिया था। उसने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ अभद्रता की। उसकी करतूत का विरोध किया गया। उसने गाली-गलौच शुरू कर दी। इसके बाद पूरी टीम को हंसिया लेकर दौड़ा लिया। सभी लोग जान बचाकर इधर-उधर भागने लगे। बबलू कह रहा था कि किससे पूछकर यहां पर वैक्सीन लगाने के लिए आए हो? यहां से भाग जाओ। कोई भी वैक्सीन नहीं लगवाएगा। सिरफिरे ने एक महिला स्वास्थ्य कर्मी से हाथ जोड़कर माफी भी मंगवाई।
प्रधान और उसके भाई पर केस दर्ज
बिल्हौर इंस्पेक्टर अनूप कुमार निगम के मुताबिक मदारपुर गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम वैक्सीनेशन के लिए पहुंची थी। प्रधान के भाई बबलू कटियार ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ बदसलूकी थी। इसके बाद ग्राम प्रधान सुमंत कटियार भी मौके पर पहुंचा था, उसने भी गाली-गालौच की थी। प्रधान और उसके भाई बबलू को अरेस्ट कर मुकदमा दर्ज किया गया है। मेडिकल कराने के बाद बुधवार को कोर्ट में पेश किया।