दिल्ली पुलिस ने दो फर्जी सीबीआई अफसर किए गिरफ्तार


दिल्ली ब्यूरो। साउथ-वेस्ट पुलिस ने दो फर्जी सीबीआई अफसर गिरफ्तार किए हैं। आरोपियों की पहचान 58 वर्षीय संजीव गिल और 36 वर्षीय रितेश के तौर पर हुई है। संजीव की फैमिली कनाडा में रहती है। वह इस तरह के सात मामले में पहले भी शामिल रहा है। वे मुसाफिरों पर रौब झाड़कर ठगी की वारदात को अंजाम देते थे। पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल एक ऑटो भी बरामद किया है।
पुलिस के मुताबिक, 21 जून को भरतपुर निवासी जफरुद्दीन ने दिल्ली कैंट थाने में कंप्लेंट दी थी। बताया कि वह 19 जून को जामा मस्जिद से कपड़े खरीदने के लिए राजस्थान से दिल्ली आया था। उसने धौला कुआं से ऑटो लिया, जिसमें एक शख्स पहले से मौजूद था। कुछ दूर बाद एक युवक ऑटो में सवार हुआ। उसने खुद को सीबीआई अफसर बताकर ऑटो ड्राइवर से डीएल और आरसी मांगी। पीड़ित का भी लगेज चेक किया। मौका देख उसने बैग में रखे पचास हजार रुपये उड़ा दिए। मामले में पीड़ित के बयान पर पुलिस ने चीटिंग का केस दर्ज किया। जांच के दौरान पुलिस ने ऑटो का नंबर ट्रेस कर लिया। पुलिस ऑटो के मालिक के घर पश्चिम विहार पहुंच गई। उसने बताया वह साल 2018 में इस ऑटो को उत्तम नगर में एक डीलर को बेच चुका है। डीलर ने पुलिस को बताया ऑटो रितेश कुमार रेंट पर चलाता है, जिसके बाद उसे दबोच लिया गया। वह उत्तम नगर इलाके का रहने वाला है। उससे हुई पूछताछ के बाद उसके साथी संजीव गिल को गिरफ्तार किया गया। 36 साल के रितेश पर भी इस तरह के दो केस मिले हैं। वह ऑटो ड्राइवर है।