फंड पास करने के लिए डीपीआरओ ने मांगी घूस, विजिलेंस टीम ने रंगे हाथों पकड़ा


  • अमेठी में विजिलेंस टीम ने डीपीआरओ को घूस लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया
  • विज‍िलेंस टीम ने एक मृतककर्मी की पत्‍नी की शिकायत पर यह छापा मारा था
  • विज‍िलेंस टीम डीपीआरओ को पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई है
अमेठी। उत्तर प्रदेश के अमेठी में विजिलेंस टीम ने गुरुवार को डीपीआरओ को घूस लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। उन पर संग्रामपुर ब्लॉक में तैनात सहायक विकास अधिकारी की पत्नी से फंड रिलीज करने के लिए पैसे मांगने का आरोप था। विज‍िलेंस टीम डीपीआरओ श्रेया मिश्रा को पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई है। डीपीआरओ के खिलाफ भ्रष्‍टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज हो गया है।
प्रतापगढ़ जिले के बड़नपुर निवासी स्व. तेज बहादुर सिंह की पत्नी सुमन देवी ने बीते दिनों शिकायत की थी कि ड्यूटी के दौरान एक दुर्घटना में उनके पति की 15 सितंबर 2020 को मौत हो गई थी। इसके बाद उनका फंड रिलीज करने के लिए जब वह डीपीआरओ श्रेया मिश्रा से मिली तो उन्‍होंने घूस के तौर पर आधी रकम मांगी।
40 हजार ले चुकी थी अडवांस
आरोप यह भी है़ कि कुछ दिन पूर्व डीपीआरओ ने पीड़िता से बतौर एडवांस 40 हजार रुपए लिए थे। इसके बाद पीड़िता ने विजिलेंस में शिकायत की। इस पर गुरुवार को लखनऊ विजिलेंस की टीम गौरीगंज पहुंची। बताया जा रहा है़ कि, पीड़िता लगभग 30 हजार रुपए डीपीआरओ श्रेया मिश्रा को देने उनके ऑफिस पहुंची। जैसे ही उसने डीपीआरओ को पैसे दिए तब तक विजिलेंस टीम ने वहां पहुंचकर डीपीआरओ को रंगे हाथ धर दबोचा।
विज‍िलेंस टीम डीपीआरओ श्रेया मिश्रा को पूछताछ के लिए साथ लेकर गई है़। सूत्रों के अनुसार टीम डीपीआरओ के अकाउंट से लेकर अन्य कागजात की भी पड़ताल करेगी।