आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का पात्र लाभार्थियों तक अधिकारीगण सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ पहुंचाएं लाभ : जिलाधिकारी


गाजियाबाद ब्यूरो। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट के महात्मा गांधी सभागार में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए शिकायतें, सुझाव एवं उनके समाधान पर बिंदुवार चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि गरीब व्यक्तियों को 5 लाख रुपए तक की स्वास्थ्य सेवाएं निशुल्क उपलब्ध कराने के संदर्भ में सरकार की यह महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत जिन पात्र लाभार्थियों का चयन किया गया है सभी के गोल्डन कार्ड बनाए जाने की कार्यवाही सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित की जाए ताकि जनपद के पात्र लाभार्थियों को इस महत्वाकांक्षी योजना का भरपूर लाभ प्राप्त हो सके। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद गाजियाबाद से सरकारी एवं गैर सरकारी अस्पताल आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में लाभार्थियों को लाभ पहुंचा रहे हैं। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 एन0के0 गुप्ता को निर्देशित किया कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत पंजीकृत होने की सूचना अस्पताल के बाहर प्रदर्शित होनी चाहिए, जिसका व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु होर्डिंग, बैनर की व्यवस्था उचित रूप से चिकित्सालयों के अंदर और बाहर होनी चाहिए। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी संबंधित अस्पतालों के द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत आने वाले लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाए जाएं। समीक्षा में जिलाधिकारी ने आयुष्मान कार्ड बनाए जाने की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर को निर्देशित किया कि प्रत्येक ब्लॉकों के गांव की सूची, शहरी क्षेत्र में मोहल्लों की सूची एवं नगर निगम क्षेत्र के मोहल्लों की पात्र लाभार्थियों की सूची सर्वे कराकर प्राथमिकता पर 3 दिन के अंदर उपलब्ध कराएं। इस कार्य के लिए आशा और आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों को लगाया जाए, जिससे पात्र लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाए जा सके। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि समस्त अधिकारीगण यह सुनिश्चित करें कि सरकार द्वारा चलाए जा रहे इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम का लाभ पात्र लाभार्थियों तक अधिक से अधिक पहुंचाया जा सके, जिसके लिए उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि इसकी एक बेहतर योजना बनाना प्राथमिकता पर सुनिश्चित करें। उन्होंने समस्त अधिकारीगण को निर्देशित किया कि मा0 मुख्यमंत्री जी की मंशा के अनुरूप प्रत्येक पात्र लाभार्थी के कम से कम एक-एक व्यक्ति का रजिस्ट्रेशन योजना अंतर्गत सुनिश्चित कराया जाए ताकि इस योजना के पात्र लाभार्थी अधिक से अधिक लाभ उठा सकें।। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सहित स्वास्थ्य विभाग से वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।