पुलिस अधिकारी बन कर मोबाइल फोन चुराने के आरोप में एक व्यक्ति गिरफ्तार


दक्षिण पूर्वी दिल्ली। राजधानी में चोरों ने चोरी व लूटपाट करने के नए-नए तरीके खोज लिए हैं। चोर इतने शातिर हो गए हैं कि अब खुद ही पुलिस वाले बन कर लोगों से चोरी, लूटपाट व स्नैचिंग की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। दक्षिण पूर्वी दिल्ली के सरिता विहार इलाके में पुलिस अधिकारी बन कर मोबाइल फोन चुराने के आरोप में 40 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इसकी जानकारी दी।
पुलिस ने रविवार को बताया कि घटना 15 जून की है जब एक सफाईकर्मी अपनी साइकिल पर सरिता विहार के ए ब्लॉक पार्क के पास पहुंचा। उसी समय वहां पुलिस अधिकारी बने आरोपी कमलेश ने उसे रोक लिया। उसने सड़क पर गलत दिशा में साइकिल चलाने के लिए सफाईकर्मी को डांटा। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कमलेश ने उसकी प्रमाणिता का सत्यापन करने के वास्ते ओटीपी की जांच करने के लिए उसका फोन ले लिया। इसके बाद वह फोन लेकर मौके से भाग गया।
फोन सर्विलांस से पकड़ा गया आरोपी
दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) आर पी मीणा ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 379 (चोरी) और 420 (धोखाधड़ी) के आरोप में मामला दर्ज किया गया और छानबीन शुरू की गई। उन्होंने बताया कि फोन के आईएमईआई नंबर और तकनीकी सर्विलांस के आधार पर फोन के बदरपुर में होने का पता चला। इसके बाद से दाता राम को वहां से गिरफ्तार किया गया। मीणा के मुताबिक, पुलिस को उसने बताया कि उसने कमलेश से चोरी का फोन खरीदा है जिसे शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया।