नवागंतुक जिला अधिकारी आर के सिंह ने जनपद के मुख्य कोषागार के डबल लॉक में किया कार्यभार ग्रहण


गाजियाबाद ब्यूरो। नवागंतुक जिला अधिकारी राकेश कुमार सिंह के द्वारा आज शाम 5:00 बजे जनपद के मुख्य कोषागार के डबल लॉक में जिला अधिकारी के पद का कार्यभार ग्रहण किया। ज्ञातव्य हो कि जिलाधिकारी आरके सिंह 2010 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और वर्तमान में मुरादाबाद जनपद से जिलाधिकारी के पद से स्थानांतरित होकर जनपद गाजियाबाद में जिला अधिकारी के पद का कार्यभार ग्रहण किया है। जिलाधिकारी आरके सिंह के द्वारा डबल लाक में कार्यभार ग्रहण करने के उपरांत कलेक्ट्रेट के महात्मा गांधी सभागार में प्रशासनिक एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ मैराथन बैठक की गई। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में उन्होंने अधिकारियों को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकताओं के संबंध में अवगत कराया। जिला अधिकारी ने इस अवसर पर कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में कोरोना के प्रसार पर अंकुश लगाने तथा कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के दृष्टिगत समय रहते संबंधित अधिकारियों के द्वारा संपूर्ण तैयारी सुनिश्चित करने के स्पष्ट निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर टेस्टिंग में गुणवत्ता बनाए रखने के उद्देश्य से जनपद में संचालित सभी प्राइवेट लैब की गहन चेकिंग सुनिश्चित की जाए ताकि सभी लैबों में निर्धारित मानकों के अनुरूप कोरोना टेस्टिंग सुनिश्चित हो सके। उन्होंने यह भी कहा कि जनपद में जो प्राइवेट अस्पताल कोरोना का इलाज करने के लिए नामित किए गए हैं सभी अस्पतालों के द्वारा प्रतिदिन पेशेंट की सूचना इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल रूम को उपलब्ध करानी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि सभी अस्पतालों में सीसीटीवी कैमरे लगाकर संबंधित लिंक भी कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराना होगा ताकि कंट्रोल रूम के माध्यम से अस्पतालों में रिक्त बेड एवं मरीजों को मिल रहे इलाज के संबंध में जिला प्रशासन को स्पष्ट रूप से जानकारी प्राप्त होती रहे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अस्पतालों में जो ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं भविष्य में बेड की संख्या बढ़ने पर ऑक्सीजन प्लांट मानकों के अनुरूप कार्य कर सकें इस दृष्टिकोण से सभी ऑक्सीजन प्लांट को स्थापित कराने की कार्यवाही संबंधित अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित की जाए। 

डीएम ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को दृष्टिगत रखते हुए पूर्व से ही सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी निर्वाचन प्रक्रिया के आधार पर लगाया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने जनपद में कोरोना टीकाकरण को भी बहुत ही प्रमुखता के साथ संचालित करने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर उन्होंने सभी ब्लाक कार्यालयों, पंचायत भवनों एवं बीज भंडारों को एक मॉडल के रूप में तैयार करने के निर्देश से संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिला पंचायत राज अधिकारी के द्वारा सभी ग्राम पंचायत भवनों का शुद्धिकरण एवं सौंदर्यकरण कराते हुए वहां पर जन सुविधा केंद्र अभियान चलाकर शुरू करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि ग्राम वासियों को शहर की ओर न दौड़ना पड़े और वह अपना सभी प्रकार का कार्य जन सुविधा केंद्र के माध्यम से गांव में  करा सकें। इसी प्रकार उन्होंने जनपद के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित सामुदायिक शौचालय को भी मॉडल के रूप में संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी विकास खंड कार्यालयों एवं कृषि बीज भंडारों को भी मॉडल के रूप में तैयार करने की कार्यवाही अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित की जाए। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान रेहड़ी पटरी एवं अन्य श्रमिकों को ₹1000 की धनराशि प्रतिमाह उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सर्वे का कार्य पूर्ण करते हुए ऑनलाइन फीडिंग करने के निर्देश हैं। इस संबंध में सभी समस्त अधिकारियों के द्वारा ऐसे प्रयास किए जाएं कि सरकार की इस योजना का लाभ सभी पात्र श्रमिकों एवं रेहड़ी पटरी वालों को उपलब्ध हो सके। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, नगर आयुक्त महेंद्र तंवर, मुख्य कोषाधिकारी  लक्ष्मी मिश्रा, अपर जिलाधिकारी नगर शैलेंद्र कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन ऋतु सुहास, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एनके गुप्ता, जिला विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक डीआरडीए, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नीरज अग्रवाल, समस्त उप जिला अधिकारी गण तथा अन्य संबंधित अधिकारी गण जिलाधिकारी द्वारा की गई मैराथन बैठक में उपस्थित रहे।