गाजियाबाद अनलॉक में राहत मिलते ही दिखने लगी लापरवाही, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां


गाजियाबाद ब्यूरो। कोरोना के नए मामलों में कमी आने के बाद सोमवार से गाजियाबाद में कर्फ्यू से छूट मिली है। जनपद में सक्रिय मरीजों की संख्या छह सौ से कम रह गई है। प्रशासन के आदेश के बाद जिले में दो महीने बाद आज से बाजार खुले हैं और लोगों को थोड़ी राहत मिली है। पिछले दिनों तक कोरोना संक्रमण की मार झेल रहा जिला जैसे ही अनलॉक हुआ है, लोग फिर से अपनी पुरानी रंगत में आ गए हैं। अनलॉक के पहले ही दिन भारी संख्या में लोग कोविड नियमों का उल्लंघन करते नजर आए। लॉकडाउन खुलते ही लोग अपनी गाड़ियों के साथ बाहर निकल पड़े हैं। सोमवार सुबह  हापुड़ रोड पर भीषण जाम लग गया।
एक तरफ कोरोना से लोगों का हाल बेहाल है और दूसरी ओर लोग नियमों और दिशानिर्देशों को ताक पर रखने का एक मौका नहीं छोड़ रहे हैं। यह हाल जिला अस्पताल की ओपीडी का है, जहां लोग इलाज के लिए पहुंचे हैं लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का जरा भी पालन करते नहीं दिख रहे हैं। अनलॉक के पहले ही दिन वैशाली मेट्रो स्टेशन के बाहर लोगों की भारी भीड़ देखने को मिली। बड़ी संख्या में लोग कतारबद्ध होकर मेट्रो का इंतजार करते दिखे।
दूधेश्वर नाथ मंदिर खुलने के बाद आज सुबह सवेरे जल चढ़ाने के लिए श्रद्धालु पहुंच गए। लॉकडाउन के बाद घंटाघर मार्केट फिर से खुल गया है। महीनों बाद बाजार में थोड़ी हलचल देखी जा सकती है।
घंटाघर रामलीला मैदान में कोरोना टीका लगवाने के लिए आज सुबह लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान लोग मास्क पहने नजर आए लेकिन कई जगह सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर लापरवाही होती भी नजर आई।